अलविदा हुए विश्व के ख्यात अर्थशास्त्री व योजना विशेषज्ञ डा. व्यास

img

बीकानेर में जन्मे पद्म विभूषण डा. विजय शंकर व्यास का आज निधन हो गया। मरूधरा के बीकानेर में जन्मे डा. व्यास  87 वर्ष के थे। वे कुछ दिनों से अस्वस्थ थे। आज लालकोठी श्मशान घाट पर उनकी अंत्येष्टि कर दी गई। अंत्येष्टि में शहर के योजना विशेषज्ञ, पूर्व मुख्य सचिव, वरिष्इ पूर्व आईएएस, आर. ए. एस, पत्रकार, साहित्यकार , कई एनजीओ के पदाधिकारी, समाज सेवी, डाक्टर व अधिकारीगण शामिल हुए। डा. व्यास प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद के दो बार सदस्य रहे। वे राजस्थान आयोजना बोर्ड के उपाध्यक्ष, मुख्य मंत्री वंसुधरा राजे की आर्थिक विकास परिषद के सदस्य रहे। वे विकास अध्ययन संस्थान जयपुर के पूर्व निदेशक भी थे। डा. व्यास अन्तर्राष्ट्रीय जगत  में ग्रामीण विकास और कृषि संंबंधी नीति के विशेषज्ञ के रूप में अधिक जाने जाते थे। वे भारत सरकार के कृषि मूल्य आयोग के सदस्य, गुजरात राज्य आयोजना मंडल के उपाध्यक्ष भी रहे। वे कोलम्बिया में काली स्थित अन्तर्राष्ट्रीय उष्ण कटिबंधीय कृषि अनुंसधान केन्द्र के न्यासी मंडल के उपाध्यक्ष भी रहे। वे हंगर (सुधा) परियोजना राजस्थान राज्य परिषद के समन्वय नियुक्त किए गए। उन्होंने अशोक गहलोत के मुख्यमंत्रित्व काल में राजस्थान के जल स्त्रोत, जल उपलब्धता, भूजल, जल  प्रबंधन और जन सहभागिता पर आठ चेप्टर की विस्तृत रिपोर्ट भी पेश की, जिसके आधार पर प्रदेश की जल नीति बनाई गई। 

tyfu6tu whatsapp mail