फिर क्यों सक्रिय हो गया स्वाइन फ्लू?

img

कहा यह गया था कि प्रदेश में स्वाइन फ्लू का उन्मूलन कर दिया गया है। लेकिन हाडकंपा देने वाली सर्दी के साथ ही स्वाइन फ्लू का वायरस फिर से सक्रिय हो गया है। यह केवल जयपुर में ही नहीं बल्कि जोधपुर में भी फैला हुआ है। अगर चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट देखें तो पता चलेगा कि प्रदेश में स्वाइन फ्लू मरीजों की संख्या 17 हो गई है। ग्यारह जयपुर और छह जोधपुर में पॉजिटिव मिले है। प्रदेश में अब तक स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या 2181 है। पिछले एक साल में स्वाइन फ्लू से करीब 38 लोगों की मौत भी हो गई थी। पाली, कोटा, अजमेर, बारां व झालावाड़ जिलों में अब तक इस रोग से 22 लोग मौत के मुंह में जा चुके हंै। आखिर इस कड़ाके की ठंड में यह फ्लू सक्रिय कैसे हुआ, जबकि इसकी रोकथाम के लिए सरकार और स्वास्थ्य विभाग ने स्वास्थ्य केन्द्रों से लेकर सभी चिकित्सालयों में आवश्यक इन्तजाम किए थे। अभी तक इसके सक्रिय होने के कारणों का कोई अधिकृत खुलासा नहीं हुआ है। अब इसके उन्मूलन के लिए विभाग ने प्रदेश के सभी चिकित्सालयों में वैक्सीन, मास्क, औषधियां, आवश्यक उपकरण तक पहुंचा दिए है। फिर से स्वाइन फ्लू सक्रिय होने पर प्रदेश की सर्वे टीम में रक्त के नमूने लेकर जांच में जुटी है। यह सचमुच में चिन्ता का विषय है। अब नई सरकार को भी इस पर गंभीरता से गौर करना होगा। प्रशासन के बदलियों का दौर और मंत्रिमंडल के गठन की प्रक्रिया में रत मुख्यमंत्री को भी इसके प्रसार को रोकने की दिशा में अधिक सक्रिय और जागरूक होना पड़ेगा। क्योंकि यह घातक रोग पूरे प्रदेश में अपना सिर उठाले इस हेतु अभी से इसको कुचलना होगा।

tyfu6tu whatsapp mail