जब बीच समुद्र में मछली ने नाव कर दी पंचर  

img

क्या आपने कभी सुना है कि मछली ने नाव पंक्चर कर दी हो, जी हां फिलिपींस के पांच नाविक दक्षिण चीन सागर में मछली पकडऩे गए थे और दुर्लभ मार्लिन नाम की मछली ने नाव ही पंक्चर कर दी। पांचों नाविक दो दिन तक समुद्र में फंसे रहे और उनका खाना-पीना भी खत्म हो गया। ये तो कहो नाविकों के पास थोड़ी-बहुत लकडिय़ां बची थीं, जिन्हें जोड़कर पांचों नाविकों ने एक राफ्ट तैयार की और इसके सहारे तैरकर किनारे आए। नाव पर मौजूद जिमी बाटिलर ने अपना अनुभव साझा किया है। जिमी का कहना है कि मैं अपने चार साथियों के साथ हफ्ते भर पहले चीन सागर में मछलियां पकडऩे निकला था। अभियान के कुछ दिन बीते ही थे कि एक सुबह हमारी नाव के करीब दुर्लभ मार्लिन प्रजाती की मछली आ गई। नुकीली चोंच वाली मार्लिन को हमने पकडऩे की कोशिश की, पर असफल हो गए। मछली जाल से बचकर नाव के नीचे आ गई और चोंच मार-मारकर नाव ही पंक्चर कर दी। जिमी ने कहा हमारी नाव कोई हल्की-फुल्की नहीं थी। ये 12 फीट लंबी और समुद्र की लेवल-5 तक की लहरों को झेल पाने में सक्षम नाव थी। लेकिन 6 फीट लंबी और 800 किलो भारी मार्लिन मछली ने इसे भी पंक्चर कर दिया। हमारी नाव में 2 बड़े पंक्चर हो चुके थे। हम कई घंटों तक तो पंचर नाव में चलते रहे, लेकिन नाव में पानी आने लगा और लहरें तेज होने से आगे बढऩा मुश्किल हो गया। हम एक दिन तो पानी में ठहरे भी। लेकिन यात्रा खत्म होने वाली थी और हमारे पास खाना-पानी भी खत्म होने लगा। हमें आगे बढऩा ही था।

whatsapp mail