95 वर्षीय जर्मन व्यक्ति को बनाया नाजी कैंप में 36 हजार लोगों की हत्या का आरोपी

img

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजी एकाग्रता शिविर के गार्ड के रूप में अपनी सेवाएं देते हुए 36 हजार लोगों की हत्या करने के लिए एक 95 वर्षीय जर्मन नागरिक को आरोपी बनाया गया है। जर्मन अभियोजक ने आरोपी की पहचान हंस एच के रूप में की है। जर्मन सार्वजनिक अभियोजकों के कार्यालय ने एक बयान में कहा कि आरोपी हंस एच पर जो आरोप लगाए गए हैं उन्हें उसने ऑस्ट्रिया में स्थित मौथौसेन कैंप में अंजाम दिया था। ऐसा माना जा रहा है कि हंस एच का संबंध मौथौसेन में स्थित 1944-1945 के बीच मौत की प्रमुख बटालियन से था। बता दें कि मौथौसेन नाजियों की एकाग्रता शिविरों के एक बड़े नेटवर्क का हिस्सा था, जहां पर कैदियों को दास मजबूरों की तरह काम करना पड़ता था। अभियोजकों ने कहा कि वहां गार्ड के रूप में काम करते हुए आरोपी ने हजारों कैदियों को मौत के घाट उतारा। उसके वहां रहने के दौरान कम से कम 36,223 कैदियों की मौत हुई थी।
 

whatsapp mail