त्यौहार में भूत क्यों बनते हैं यहां के लोग, पढ़ें और जानें 

img

पश्चिमी देशों में मनाए जाने वाले इस खास त्यौहार के बारे में शायद ही आप जानते हों। यहां हैलोवीन नाम का एक खास त्यौहार पूर्वजों की याद में मनाया जाता है। यह त्यौहार अपने आप में बहुत खास है क्योंकि इस त्यौहार को मनाने का अंदाज बेहद निराला है। आमतौर पर लोग त्यौहार पर खूबसूरत कपड़ों में सजते हैं लेकिन ये त्यौहार कुछ अलग है। इस दिन लोग डरावना रूप बनाते हैं। आत्माओं और भूतों की तरह मेकअप किया जाता है। कपड़े भी इसी थीम के अनुसार पहने जाते हैं। हैलोवीन पश्चिमी देशों में ईसाइयों द्वारा धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है, जोकि अक्टूबर के आखिरी रविवार को मनाया जाता है, जो अबकी बार 28 अक्टूबर को मनाया गया। इस त्यौहार के लिए सभी अपने-अपने अंदाज में तैयारियां करते हैं। वहीं इस दिन अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हैं। इस त्यौहार की शुरुआत आयरलैंड एवं स्कॉललैंड से हुई थी। यूरोप में सैल्टिक जाति के लोग मानते थे कि इस समय मृत लोगों की आत्माएं आकर संसारिक प्राणियों से साक्षात्कार करती हैं। वे सोचते थे कि उनके पुरखों की आत्मा धरती पर आएंगी। इसीलिए इस जाति के लोग चुड़ैल बनते और जानवरों के मौखटे, उनकी चमड़ी, उनके सिर पहनकर अलाव के आसपास नाचते गाते हैं। वे मानते हैं कि कोई विशिष्ट सर्वोच्च प्राकृतिक शक्ति है। 

whatsapp mail