टाटा मोटर्स 'घर लाओ गोल्ड' प्रतियोगिता के विजेताओं को अक्षय कुमार ने पुरस्कृत किया

img

जयपुर
भारत में स्व-रोजगार और उद्यमिता को प्रोत्साहन देते हुए, टाटा मोटर्स 'घर लाओ गोल्ड' प्रतियोगिता के विजेताओं की घोषणा कर रोमांचित है। यह प्रतियोगिता टाटा एस गोल्ड से युक्त सबसे रचनात्मक आइडियाज वाले उद्यमियों की खोज के लिये थी। पाँच विजेताओं में से प्रत्येक को एक ब्राण्ड-न्यू टाटा एस गोल्ड मिली है, जिसकी कीमत 3.78 लाख रू. है, जो उन्हें सुपरस्टार और टाटा मोटर्स कॉमर्शियल व्हीकल्स के ब्राण्ड एम्बेसेडर अक्षय कुमार ने सौंपी। विजेता और उभरते उद्यमी लिजेंडरी टाटा एस गोल्ड के साथ अपने खोजपरक आइडियाज को साकार करेंगे। विजेताओं को उनके उद्यमशीलता परिदृश्य पर बधाई देते हुए, टाटा मोटर्स की वाणिज्यिक वाहन व्यवसाय इकाई में विपणन एवं ब्राण्ड कम्यूनिकेशंस के प्रमुख यू.टी. रामप्रसाद ने कहा, विजेता वह होता है, जो अपनी प्रतिभा को जानता है, उसे कुशलता में ढालने के लिये कार्य करता है और फिर इन कुशलताओं का उपयोग अपने लक्ष्य को पाने के लिये करता है। हमारा घर लाओ गोल्ड अभियान उद्यमिता को देशभर में बढ़ावा देने पर लक्षित था। इस अभियान के माध्यम से हमने पाया कि भारत में प्रतिभा असीम है, यहाँ खोजपरक आइडियाज हैं, लेकिन सीमित संसाधनों के कारण हर कोई अपनी रचनात्मकता का प्रदर्शन नहीं कर पाता है। हमें उम्मीद है कि टाटा मोटर्स एस गोल्ड उनके आइडियाज को हकीकत में बदलने मदद करेगी और समाज में योगदान देगी। हम उभरते उद्यमियों को उनके रचनात्मक आइडियाज के लिये बधाई देते हैं और उनके लक्ष्यों को हासिल करने में उनकी मदद करने के लिए तत्पर हैं। 'घर लाओ गोल्ड" प्रतियोगिता को भारी प्रतिसाद मिला और केवल दो माह में लगभग 25,600 प्रविष्टियाँ आईं। शीर्ष 19 फाइनलिस्ट्स को प्रतिष्ठित जजेस द्वारा मेंटॉर किया गया और शीर्ष 5 बिजनेस आइडियाज को विजेता माना गया। सभी आवेदकों को धन्यवाद देते हुए टाटा मोटर्स सभी को इनके रचनात्मक आइडियाज के विस्तार में सहयोग करेगा। राहुल टाक अजमेर, राजस्थान से हैं और इलेक्ट्रिकल ट्रांसफार्मर्स के महारथी हैं, जिसे ओएलटीसी (ऑन लोड एंड नो लोड टैप चैंजर) कहा जाता है। ओएलटीसी में सर्विसिंग और थोड़ी मात्रा में ट्रांसफार्मर ऑइल की जरूरत होती है । राहुल टाटा एस गोल्ड में एक छोटी सर्विसिंग यूनिट इंस्टाल करना चाहते हैं और अपने जिले में ट्रांसफार्मर सर्विस करना चाहते हैं और कुछ वर्षों में अपने व्यवसाय का विस्तार करेंगे। एक एस ने औसतन प्रत्येक 3 मिनट में एक नये व्यवसाय को जन्म दिया है, रोजगार का सृजन किया है और उद्यमिता के अवसरों को प्रेरित किया है, इस प्रकार भारत के सुदूर क्षेत्रों में इसने लोगों की जिन्दगी बदली है, सभी काम पूरे करने के लिये निर्मित एस देश के उद्यमियों और छोटे व्यवसायों की पहली पसंद है। '' घर लाओ गोल्ड" प्रतियोगिता के माध्यम से टाटा मोटर्स ने आगामी उद्यमियों की नई पीढ़ी को प्रेरित करना जारी रखा है।  

whatsapp mail