जयपुर से शुरू हुई ईबाइक ने अपनी अनूठी सेवाओं की पहल

img

जयपुर
ईबाइक ने आज गुलाबी शहर जयपुर में अपनी अनूठी सेवाएं शुरू की हैं। इस अवसर के दौरान, राजाराम मील, राजस्थान जाट महासभा अध्यक्ष जयपुर राजस्थान, मुख्य अतिथि थे। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि द्वारा पारंपरिक रूप से दीप प्रज्ज्वलित समारोह के साथ हुई। इसके बाद, अन्य नामचीन हस्तियों और अतिथियों की उपस्थिति में उद्घाटन समारोह किया गया। अपने भाषण के दौरान राजाराम मील, राजस्थान जाट महासभा अध्यक्ष, जयपुर राजस्थान ने कहा, मैं इस कॉन्सेप्ट के पीछे की टीम को हार्दिक बधाई देता हूँ और आने वाले दिनों में उनकी सफलता की कामना करता हूँ। जयपुर के लोगों को यह पर्यावरण-हितैषी परिवहन समाधान प्रदान करने के पीछे जो कठोर परिश्रम और समर्पण किया गया है, उसकी मैं प्रशंसा करता हूँ। शहर में प्रदूषण को कम करने के इस प्रयास का निश्चित रूप से यहाँ के लोगों की जीवन शैली पर प्रभाव पड़ेगा। ईबाइक का प्रमुख उद्देश्य है इलेक्ट्रॉनिक बाइक के माध्यम से पर्यावरण के अनुकूल और अत्यधिक लागत प्रभावी सेवाएं प्रदान करना जो शहर को यातायात और प्रदूषण को कम करने में मदद करेगा। ईबाइक जल्द ही शहर के लोगों के लिये अपना परिचालन शुरू करेगा, ताकि वह परिवहन के लिये इलेक्ट्रिक स्कूटर अपनाएं और ट्रैफिक एवं प्रदूषण को कम करें। अपने भाषण के दौरान ईबाइक के संस्थापक डॉ. इरफान खान ने कहा, हमें आज जयपुर में ईबाइक को लॉन्च कर अत्यंत गर्व महसूस हो रहा है। हम पूरे भारत में अपने परिचालन का विस्तार करना चाहते हैं, ताकि भारत परिवहन के लिये पर्यावरण-हितैषी साधनों को अपनाए और आधुनिक भारतीयों के भागमभाग जिंदगी में यात्रा सस्ती और क्षमतावान हो। ईबाइक में लिथियम आयन (लियॉन) बैटरीज का उपयोग किया गया है, जो पर्यावरण में पूरी तरह अपघटित हो जाती हैं और खतरनाक इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट को कम करने में मदद करती हैं। इन स्कूटर्स की पेशकश से हमारा प्रमुख उद्देश्य इस वर्ष उस प्रदूषण को कम से कम 2 प्रतिशत तक कम करना है, जो पेट्रोल वाले दुपहिया वाहनों से होता है। गर्वित ईबाइक्स आने वाले दिनों में शहर में परिवहन का सबसे कम लागत वाला साधन होंगी। इसे चलाने की लागत 55 कि.मी./घंटा की औसत गति के लिये 20 पैसा/कि.मी. है और इसलिये ईबाइकन्यूनतम 4 घंटे के लिये 100 रू. की राशि के साथ रेंटल की पेशकश भी करेगा। डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के अनुसार, जयपुर राजस्थान का सबसे प्रदूषित शहर है। डब्ल्यूएचओ द्वारा एकत्र किए गए वार्षिक औसत सांद्रता में सूक्ष्म कण पदार्थ (पीएम 10 और पीएम 2.5) प्रदूषक शामिल हैं, जो मानव स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़ा जोखिम हैं। वायु प्रदूषण के अंतर्राष्ट्रीय मानकों का कहना है कि 0-50 (माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर हवा) का सूचि कांक मूल्य उत्कृष्ट है, 51-100 अच्छा है, 101-150 हल्का प्रदूषित है। जयपुर में पीएम 10 का उच्चतम स्तर 187 (बेहद अधिक) दर्ज किया गया। खतरनाक सूक्ष्म कर्ण से वायु प्रदूषण के प्रमुख स्रोतों में ऊर्जा का अकुशल उपयोग शामिल है जिसमें परिवहन क्षेत्र विशेष रूप से दोपहिया वाहन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। परिवहन के लिए पर्यावरण के अनुकूल साधनों की शुरुआत के साथ जयपुर की पर्यावरण को अनुकूल शहर बनाने की दिशा में ईबाइक द्वारा इस तरह की पहल की गई है। सरकार भी इसे लेकर चिंतित है और इलेक्ट्रिक परिवहन लाना चाहती है तथा प्रदूषण के स्तर को कम करना चाहती है। हमारा विस्तार राष्ट्र के विकास का पर्याय होगा और ईबाइक स्मार्ट भारत का हृदय होगा। ईबाइक स्मार्ट भारत का भविष्य है और शहर में परिवहन को पूरी तरह से बदलकर रहेगा। ईबाइक ने अपनी अनूठी सेवाओं की शुरूआत की भारत का गुलाबी शहर जयपुर में।

whatsapp mail