होण्डा 2 व्हीलर्स इण्डिया ने कौशल भारत मिशन को बढ़ावा देने के लिए एनएसडीसी के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

img

नई दिल्ली
देश के स्थानीय युवाओं के कौशल विकास की दिशा में कदम बढ़ाते हुए होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा लिमिटेड ने ऐलान किया है कि इसने देश भर में 10 ऑटोमोटिव लैबोरेटरीज़ की स्थापना के लिए राष्ट्रीय कौशल विकास निगम के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौता ज्ञापन के तहत होण्डा देश के पूर्वी राज्यों पर ध्यान केन्द्रित करते हुए कौशल विकास के उद्देश्य के साथ एनएसडीसी के साथ मिलकर 10 लर्निंंग सेंटरों को सहयोग प्रदान करेगी। होण्डा कोलकाता, गुवाहाटी, रांची, पटना, जयपुर, जोधपुर, विजयवाड़ा, देहरादून, वाराणसी और कटक में स्थापित इन लैब्स में प्रासंकि उपकरण मुहैया कराएगी। होण्डा छात्रों के लिए ऐसा प्लेटफॉर्म प्रस्तुत करेगी, जिसके माध्यम से छात्रों को वाहनों की रखरखाव और मरम्मत के लिए विशेष कौशल प्रदान किया जाएगा। ये आधुनिक लैबोरेटरीज़ छात्रों को उद्योग जगत के आवश्यकता के अनुरूप प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें नौकरियों के लिए तैयार करेंगी। उम्मीद की जा रही है कि इस कऱार के तहत अगले साल तक कम से कम 1200 छात्र लाभान्वित होंगे। इस कऱार पर बात करते हुए श्री प्रदीप पाण्डे, सीनियर वाईस प्रेज़ीडेन्ट, कस्टमर सर्विस, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा लिमिटेड ने कहा, होण्डा कौशल भारत मिशन को अपना समर्थन देती है और एनएसडीसी के साथ यह समझौता ज्ञापन इसी दिशा में हमारा एक प्रयास है। हम इस कऱार के तहत देश के स्थानीय युवाओं को सशक्त बनाने के लिए 10 प्रशिक्षण प्रयोगशालाएं स्थापित करेंगे। जो न केवल उन्हें उद्योग जगत की आवश्यकता के अनुरूप कौशल प्रदान कर उन्हें नौकरियों के लिए तैयार करेंगी बल्कि ऑटोमोटिव उद्योग को प्रशिक्षित मैनपावर भी मुहैया कराएंगी। ऐसे समय में जब ठैटप् उत्सर्जन की आखिरी दिनांक नज़दीक आ रही है, सेक्टर में तेज़ी से बदलाव आ रहे हैं। ऐसे में यह समझौता कौशल भारत दृष्टिकोण में महत्वपूर्ण योगदान देगा। एनएसडीसीके साथ इस समझौता ज्ञापन के अलावा होण्डा ने ऑटोमोटिव सेक्टर में कुशल मैनपावर के विकास के लिए कई राज्य सरकारों के साथ भी साझेदारी की है। हाल ही में होण्डा ने रोहतक (हरियाणा) और जफ़ऱपुर (दिल्ली) में दो सरकारी आईटीआई (ओद्यौगिक प्रशिक्षण संस्थानों) के साथ साझेदारी की थी। 

whatsapp mail