ऐक्सिस बैंक ने लॉन्चॉ किया ऐक्सिस टैप एंड पे

img

मुंबई
निजी क्षेत्र में देश के तीसरे सबसे बड़े बैंक ऐक्सिस बैंक ने आज ऐक्सिस टैप एंड पे की पेशकश की है। यह एक मोबाइल एप्लीजकेशन है, जो इसके ग्राहकों को कॉन्टै्क्टडलेस मर्चेंट टर्मिनल्स। पर सिर्फ अपने एनएफसी-एनैबल्ड मोबाइल फोन्सो को टैप कर ट्रांजैक्श न करने में सक्षम बनायेगा। यह फीचर ऐक्सिस बैंक द्वारा जारी सभी मास्टीरकार्ड एवं वीजा, डेबिट तथा क्रेडिट कार्ड्स के लिये उपलब्ध् होगा। बैंक ने इस फीचर के लिये एचएसई टेक्नोलॉजी का लाभ उठाया है, ताकि भुगतान की प्रक्रिया को अधिक सुरक्षित और तेज बनाया जा सके और इस तरह ग्राहकों को एक बेहतर अनुभव प्रदान किया जा सके। इस सर्विस का इस्तेामाल करने के लिये ग्राहकों को प्लेव स्टोजर से ऐक्सिस टैप एंड पे एप्पक को डाउनलोड करना होगा और कॉन्टैकक्टेलेस पेमेंट फैसिलिटी (सम्पर्करहित भुगतान सुविधा) को ऐक्टिवेट करने के लिये एप्ली्केशन पर अपने ऐक्सिस बैंक क्रेडिट और डेबिट कार्ड्स का विवरण दर्ज करना होगा। 
एप्पन पर कार्ड्स को लिंक करने के बाद ग्राहकों को भुगतान करने के लिये कॉन्टैनक्ट लेस पीओएस मशीनों पर एनएफसी-एनैबल्डक मोबाइल फोन को सिर्फ टैप करने की जरूरत होती है। इस तरह अब उन्हें  एक फिजिकल प्ला्स्टिक कार्ड साथ में लेकर चलने की जरूरत नहीं है। ऐक्सिस टैप एंड पे के जरिये किये गये सभी भुगतान पूरी तरह से सुरक्षित होते हैं, क्योंरकि इसके द्वारा एक टोकन-कार्ड को जेनरेट किया जाता है, जोकि वास्तरविक डेबिट/क्रेडिट कार्ड नंबर से अलग है। इस तरह ग्राहकों की प्राइवेसी और सिक्युसरिटी बढ़ जाती है। इसके साथ मर्चेंट्स को अधिक ट्रांजैक्शान वॉल्यू म और साथ ही तेज चेकआउट टाइम्सक का लाभ भी मिल सकता है और इस तरह कैशियर पर कम दवाब पड़ता है। ऐक्सिस बैंक ने हाल ही में अपने पूर्व-अनुमोदित ग्राहकों के लिये इंस्टैंट क्रेडिट कार्ड्स लॉन्च किये, जिसमें उनके पास ऐक्सिस पे के माध्यम से वर्चुअल इंस्टैंट क्रेडिट कार्ड्स प्राप्त करने का विकल्प है, जो सत्यापन के बाद मिनटों में हो जाता है। एक बार इंस्टैंट क्रेडिट कार्ड जनरेट होने के बाद उसे ऐक्सिस टैप एंड पे से जोड़ा जा सकता है और पीओएस टर्मिनल्स पर तुरंत उपयोग में लाया जा सकता है। इससे ग्राहक तत्काल जारी हुए कार्ड का उपयोग ई-कॉमर्स के लेन-देन और एनएफसी प्रौद्योगिकी का उपयोग कर पॉइंट ऑफ सेल लेन-देन के लिये भी कर सकते हैं। एक सिरे से दूसरे सिरे तक की इस क्षमता के साथ ग्राहक त्यौहारों के समय अपने ऐक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड्स का उपयोग वास्तविक कार्ड की प्रतीक्षा किये बिना कर सकते हैं। 
लॉन्च के अवसर पर ऐक्सिस बैंक में कार्ड्स एंड मर्चेंट एक्वायरिंग बिजनेस के प्रमुख संजीव मोघे ने कहा, भुगतान बाजार बढ़ रहा है, जिसे उपभोक्ता के व्यवहार में बदलाव का साथ मिला है। हमें कॉन्टै,क्टनलेस पेमेंट की वृद्धि के बड़े अवसर दिख रहे हैं और इसलिये हमारी नई पेशकश 'ऐक्सिस टैप एंड पेÓ इस वर्ग के लिये तैयार की गई है। इससे ग्राहकों का अनुभव समृद्ध होगा, क्योंकि भुगतान की प्रक्रिया तीव्र हो जाएगी और अधिक सुरक्षित भी होगी, जिसमें वास्तविक प्लास्टिक कार्ड रखने की आवश्यकता नहीं होगी।
मास्टरकार्ड के दक्षिण एशिया डिविजन प्रेसिडेन्ट पौरूष सिंह ने कहा, मास्टरकार्ड ने हमेशा डिजिटल भुगतान को यूजर्स के लिये सुविधाजनक और सुरक्षित बनाने पर ध्यान दिया है और इस ऐप्लीुकेशन की प्रस्तुति इस दिशा में अगला कदम है। आज भारत के बाजार में करीब 15 मिलियन संपर्करहित कार्ड हैं, जो वर्ष 2020 तक 50 मिलियन से अधिक होने की अपेक्षा है। मास्टरकार्ड इस क्रांति में अग्रणी रहने पर रोमांचित है और ऐक्सिस बैंक के साथ हमारी भागीदारी इसका प्रमाण है। आगे चलकर टैप एंड गो डिजिटल भुगतान की विभिन्न श्रेणियों में सर्वाधिक सुविधाजनक और सुरक्षित भुगतान विधियों में से एक के रूप में उभरेगा। इस बात को आगे बढ़ाते हुए वीजा इंडिया एवं साउथ एशिया के ग्रुप कंट्री मैनेजर टी. आर. रामाचंद्रन ने कहा, खोजपरक भुगतान समाधान निर्मित करने हेतु ऐक्सिस बैंक जैसे भागीदार के साथ जुड़कर वीजा गर्वान्वित है। बैंक ने हाल ही में इंस्टैंट क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया, जिसने उपभोक्ता को डिजिटल तरीके से कार्ड प्राप्त करने की शक्ति दी और अब टैप एंड पे से वह संपर्करहित लेन-देन में इसका उपयोग रिटेल दुकानों पर कर सकेंगे। वैश्विक चलन बताते हैं कि संपर्करहित होने से कार्ड का उपयोग बढ़ेगा और यह नगद लेन-देन की जगह लेगा, जिससे हमारे देश के लाखों नागरिकों को डिजिटल अर्थव्यवस्था से जोडऩे का हमारे देश का प्रयास सार्थक होगा। एक कार्ड पर संपर्करहित भुगतान के लिये भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रत्येक लेन-देन में अधिकतम 2000 रू. तक की अनुमति है। इसलिये 2000 रू. प्रति लेन-देन के लिये ऐक्सिस टैप एंड पे द्वारा भुगतान किया जा सकता है।

whatsapp mail