क्रिसिल ने दी एयू बैंक की लंबी अवधि के ऋण उपकरणों को स्थिर दृष्टिकोण के साथ एए- की रेटिंग

img

जयपुर
भारत के तेज़ी से बढ़ रहे बैंकों में से एक, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, को लंबी अवधि के ऋण उपकरणों के लिए आज क्रिसिल ने रेटिंग में एक और स्तर आगे बढ़ा दिया है। बैंक की रेटिंग क्रिसिल एए+ से बढ़ाकर स्थिर दृष्टिकोण के साथ एए- हो गयी है। अल्पावधि जमा ऋणों के लिए रेटिंग के स्तर को क्रिसिल एए1+ पर कायम रखा गया है। रेटिंग अपग्रेड के मानक थे बैंक की अच्छा डिपॉजिट बेस तैयार करने की काबिलियत, पारंपरिक उधार (लिगेसी बौरोइंग) में बदलाव तथा इसपर आधारित पूँजीगत सशक्तीकरण। टेमासेक होल्डिंग्स द्वारा हाल में हुए पूँजीनिवेश से बैंक के परिचालन के आयाम में भी सकारात्मक बदलाव आये हैं। एजेंसी ने यह भी दर्शाया है कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान इस बैंक की संपत्ति की गुणवत्ता का स्तर (एसेट क्वालिटी) औसत से अधिक रहा है। एयू बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी, संजय अग्रवाल ने कहा, इस खबर ने एक बार फिर से हमारी बैंकिंग फ्रेंचाइज़ी, पोर्टफोलियो के स्तर और पूँजीगत स्थिति की मज़बूती की पुष्टि की है। बाज़ार के मौजूदा हालातों में, हमारी रेटिंग का यह सुधार बेहद महत्वपूर्ण और आश्वासन प्रदान करने वाला है। इस रेटिंग के बदलाव के साथ अब हम क्रिसिल, इंडिया, आईक्रा और केयर चारों रेटिंग एजेंसीयों के द्वारा एक ऐसे संस्थान के रूप में प्रमाणित हो गए हैं जिसका मज़बूत आधार इसे औरों से अलग और ख़ास बनाता है। इसके साथ ही हमारी विशिष्टता, वितरण और वंशावली से हमें भविष्य में भारत का भरोसेमंद, ग्राहकोन्मुखी, रिटेल बैंक स्थापित करने का बल मिलता है जो की लगातार न सिर्फ अपने मार्किटशेयर में वृद्धि करेगा बल्कि अपने शेयरहोल्डर्स की पूंजी में भी लगातार बढ़त दिलाएगा। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी की स्थान निर्धारण परिभाषा के अनुसार,एए  वाले उपकरणों को वित्तीय दायित्वों के समय पर सेवा प्रदान करने के संदर्भ में उच्च स्तर की सुरक्षा वाला समझा जाता है। ऐसे उपकरणों में बहुत कम क्रेडिट जोखिम होता है। एयू बैंक के दीर्घकालिक उपकरणों को केयर रेटिंग्स, इंडिया रेटिंग्स और आईक्रा रेटिंग्स समेत सभी चार रेटिंग एजेंसियों से एए- की रेटिंग मिली है।

whatsapp mail