टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने नेशनल स्किल फेस्टिवल 2019 की मेजबानी की

img

बैंगलोर
टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने देश भर में अपने डीलर नेटवर्क के तहत कुशल कामगारों का विकास करने के अपने सतत प्रयासों के तहत आज देश भर में अपने सभी डीलरशिप कर्मचारियों के लिए ‘नेशनल स्किल फेस्टिवल 2019’ का आयोजन किया। यह आयोजन एक ऐसे मंच के रूप में काम करता है जहां बेजोड़ सेल्स, सर्विस, ग्राहक संबंध और यू-ट्रस्ट स्किल्स (कौशल) को पुरस्कृत किया जाता है। इस तरह, उद्योग में अभिनव कौशल मानक स्थापित किए जाते हैं। स्किल इंडिया पहल के प्रति कंपनी की कटिबद्धता के क्रम में स्किल फेस्टिवल टोयोटा की ओर से एक और कदम है। कंपनी तेजी से बदलते भारतीय उद्योग में बढ़ती कौशल की कमी को पूरा करने के लिए लगातार भिन्न किस्म की पहल में व्यस्त रही है। इसका आयोज तीन स्तर पर होता है -डीलरशिप के बीच, डीलर के यहां, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर। प्रतियोगियों का आकलन भिन्न प्राचलों पर किया गया। इसमें ज्ञान, प्रक्रिया प्रदर्शन, सॉफ्ट स्किल और कार्यकुशल भूमिका शामिल है जो ग्राहकों को प्रीमियम अनुभव कराता है और अन्य चीजों के साथ मानवीय छाप भी महसूस कराता है। इस कार्यक्रम के फिनाले में श्री अतशुशी किमाता, महाप्रबंधक (बॉडी एंड पेंट प्रोमोशन डिपार्टमेंट, कस्टमर फस्र्ट प्रोमोशन ग्रुप)-टोयोटा मोटर कॉरपोरेशन भी शामिल हुए। उनके साथ टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के सीनियर मैनेजमेंट एक्जीक्यूटिव, श्री शेखर विश्वनाथन, उपाध्यक्ष और श्री टडाव किडोकोरो, वाइस प्रेसिडेंट भी थे। इस साल इस आयोजन का थीम था ‘बी प्रो -लीड, एनकरेज, क्रिएट’। इस आयोजन में 6000+ डीलर की भागीदारी काफी उत्साहवर्धक रही। इनमें सेल्स और सर्विस डिविजन के लोग भी थे। रीजनल स्किल फेस्टिवल में कुल 900+ उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया। क्षेत्रीय स्तर के 130 विजेताओं ने आज हुए नेशनल स्किल फेस्टिवल में हिस्सा लिया। कंपनी अपने ‘कस्टमर फस्र्ट’ (ग्राहक सबसे पहले) दर्शन के साथ तालमेल में हमेशा ग्राहकों की प्राथमिकताओं और फीडबैक का मूल्यांकन करती रहती है ताकि अपने सभी डीलर नेटवर्क पर अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ अनुभव डिलीवर कर सके। इस साल प्रतियोगियों के प्रदर्शन पर अपना नजरिया साझा करते हुए टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के वाइस प्रेसिडेंट श्री टडाव किडोकोरो ने कहा, ‘‘सेल्स, सर्विस और ग्राहक संबंध टीम के सभी प्रतियोगियों को बेजोड़ उत्साह, समर्पण और प्रदर्शन के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएं। ग्राहक की खुशी टोयोटा के लिए सबसे महत्वपूर्ण है और उत्कृष्ट ग्राहक अनुभव मुहैया कराने के लिए यह आवश्यक है कि अपने कामगारों के कौशल को नियमित रूप से निखारा जाए। इस साल 6000 से ज्यादा भागीदार थे और हम अपने डीलर पार्टनर से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली। इसके जरिए हमारे ग्राहकों को ‘एकदम सही और देखभाल वाली सेवा’ प्रदर्शित की गई। इस बार हमलोगों ने अपने निष्ठावान ग्राहकों को भी समारोह में शामिल होने और यह देखने के लिए आमंत्रित किया कि टीकेएम कैसे अपने ग्राहकों के बीच कैसे खुशी की संस्कृति का विकास करता है और यह पहली बार था। उन्होंने आगे कहा, ‘‘नेशनल स्किल फेस्टिवल एक ऐसा मंच है जो ना सिर्फ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों मान्यता देता है और पुरस्कृत करता है बल्कि हमारे डीलरशिप कर्मचारियों को यह मौका देता है कि वे अपने कौशल को निखार सकें। यह एक शक्तिशाली औजार है जिससे प्रशिक्षण की आवश्यकताओं का आकलन किया जा सकता है और इस तरह कुशल कर्मचारियों की एक मजबूत टीम तैयार की जा सकती है। हम दृढ़ता से यह मानते हैं कि प्रतिस्पर्धिता से काम का एक स्वस्थ माहौल बनेगा और हममें से प्रत्येक के कर्मचारियों की संभवनाओं का विकास होगा। इस तरह उन्हें और आगे बढऩे तथा सर्वश्रेष्ठ होने की चुनौती मिलेगी। इससे प्रत्येक ग्राहक के संपर्क बिन्दु पर अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ सेवा स्तर और समृद्ध होती है। आखिरकार, सबसे प्रीमियम ग्राहक अनुभव हासिल होता है। टोयोटा की लीडरशिप टीम ने कुल 27 विजेताओं को सम्मानित किया। इनमें हरेक श्रेणी के तीन लोग हैं औ ये टोयोटा के प्लांट परिसर- बिडाडी (रामनगर जिला, बेंगलुरु) में मौजूद थे। इस साल जो श्रेणियां थी वो हैं -सेल्स कंसलटैंट (नई कार की बिक्री), डीलर इंसट्रक्टर (सेल्स), सेल्स कंसलटैंट (उपयोग की गई कार की बिक्री), ग्राहक संबंध, बॉडी टेक्निशियन, पेंट टेक्निशियन, सेवा सलाहकार (बीएंडपी), डीलर इंस्ट्रक्टर (बॉडी), और डीलर इंस्ट्रक्टर (पेंट) तथा  अंतिम विजेताओं और रनर्स को उनके सुविज्ञ कौशल स्तर के लिए मान्यता मिली और नकद पुरस्कार, रॉलिंग ट्रॉफी, विनर प्लैक तथा स्वर्ण पदक दिए गए। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर व्यावहारिक तौर पर अपने उन कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण की पहल करता है जो डीलर नेटवर्किंग, मार्केटिंग कौशल, ग्राहक सेवा के क्षेत्र में हैं और समय-समय पर समीक्षा के अलावा टीम लीडर्स के कोचिंग कौशल का भी ध्यान रखा जाता है और बिक्री व सेवा कर्मचारियों को एक व्यापक मोड्यूल दिया जाता है जो बुनियादी ऑटो टेक्नालॉजी, उत्पाद, सेल्स एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिड्योर) को एक व्यापक मोड्यूल मुहैया कराते हैं ताकि टीम का विकास हो सके और मूल्यवर्धित सेवाओं से ग्राहक की संपूर्ण संतुष्टि बेहतर की जा सके। एक जिम्मेदार संस्थान के रूप में टीकेएम ने एक और मिशन की शुरुआत की है जो कौशल की कमी को पूरा करने के लिए है। इसके लिए टोयोटा टेक्निकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (टीटीटीआई) की शुरुआत हुई है। इसकी स्थापना 2007 में हुई थी जो तीन साल का मुश्किल पूर्णकालिक प्रशिक्षण मुहैया कराता है और यह ऑटोमोबाइल असेम्बली, ऑटोमोबाइल पेन्ट, ऑटोमोबाइल वेल्ड और मेकाट्रोनिक्स द्वारा (यह मेकैनिकल और औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स का मेल है) में है। इसके अलावा, गुरुकुल टीकेएम में एक सुसज्जित लर्निंग सेंटर है जो हरेक स्तर पर कर्मचारियों को भिन्न किस्म के प्रशिक्षण मुहैया कराता है। इससे उन्हें अपनी परिचालन योग्यता बेहतर करने में सहायता मिलती है और वे उच्च गुणवत्ता वाला लक्ष्य मानक हर जगह डिलीवर करता है। टोयोटा में मानवशक्ति उच्च स्तर के कौशल विकास को महसूस करती है और यह ऑन द जॉब प्रशिक्षण तथा वास्तविक समय के अनुभवों से संभव होता है। यह एक ऐसी शक्ति के रूप में काम करता है जो कामगारों की अगली पीढ़ी का विकास करता है। इससे टोयोटा के विश्व स्तर के उत्पादों और सेवा पेशकशों के लिए सभी डीलरशिप में सर्वोच्च स्तर का ऑटोमोटिव पेशेवर कार्य सुनिश्चित होता है। इसके लिए कंपनी ने देश भर में औद्योगिक और तकनीकी प्रशिक्षण संस्थाओं से साझेदारी की है और टोयोटा टेक्निकल एजुकेशन प्रोग्राम (टी-टीईपी) तैयार किया है। इस प्रोग्राम का लक्ष्य देश भर में आईटीआई के छात्रों को तकनीकी जानकारी मुहैया कराने के साथ टोयोटा डीलरशिप में मौके पर वास्तविक समय में अनुभव मुहैया कराना है। 2006 में शुरुआत के बाद से अभी तक टोयोटा ने 50 संस्थाओं के साथ साझेदारी की है।  

whatsapp mail