एनपीसीआई ने अपनी लीडरशिप रैंक मजबूत की

img

मुंबई
नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने सुश्री प्रवीणा राय की नियुक्ति चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के पद पर और श्री आरिफ खान की नियुक्ति चीफ डिजिटल ऑफिसर (सीडीएफ) पद पर किये जाने की घोषणा की। उक्त नियुक्तियां क्रमशः 20 फरवरी, 2019 और 18 फरवरी, 2019 से प्रभावी होंगी। सीओओ के रूप में, सुश्री प्रवीणा राय एनपीसीआई के संपूर्ण रणनीतिक उद्देश्यों सरल, सुरक्षित और सहज उपभोक्ता अनुभव के अनुरूप मार्केटिंग, बिजनेस डेवलपमेंट, प्रोडक्ट मैनेजमेंट और ऑपरेशंस रणनीति बनाने और उन्हें क्रियान्वित करने का दायित्व संभालेंगी, ताकि भारत के तीव्र डिजिटलीकरण के अभियान को और आगे बढ़ाया जा सके। सुश्री राय उपयुक्त साझेदारियों के जरिए एनपीसीआई की पेशकशों का प्रोडक्ट पेनेट्रेशन, पहुंच और विजिबिलिटी बढ़ायेंगी। 20 वर्षों से अधिक समय के व्यापक अनुभव के साथ, सुश्री राय को पेमेंट्स, कार्ड्स, रिटेल, ट्रांजेक्शन, होलसेल एवं कॉमर्शियल बैंकिंग के विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता प्राप्त है। एनपीसीआई से जुड़ने से पहले, वो कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड के कैश मैनेजमेंट पोर्टफोलियो को संभाल रही थीं। सुश्री राय एचएसबीसी बैंक के लिए एशिया में पेमेंट्स का प्रबंधन कर रही थीं और  वो एचएसबीसी में हेड ऑफ सेल्स भी थीं, जहां उन्होंने एशिया के वैश्विक बैंकिंग कॉर्पोरेशंस और भारत के एसएमई को समाधान प्रदान किये। सुश्री राय ने इलेक्ट्रॉनिक्स व कम्यूनिकेशन में स्नातक की डिग्री हासिल की है और आईआईएम अहमदाबाद से परा-स्नातक डिग्री हासिल की है। श्री आरिफ खान एनपीसीआई के सीडीओ के रूप में कार्यभार संभालेंगे, जो डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के लिए स्ट्रेटजिक प्लानिंग का नेतृत्व करेंगे। इस भूमिका में, वो ग्राहकों की आवश्यकताओं एवं इंडस्ट्री ट्रेंड्स के आधार पर एनपीसीआई के नये प्रोडक्ट्स का पोर्टफोलियो बढ़ायेंगे। श्री खान पर नवाचार, एनालिटिक्स एवं टेक्नोलॉजी को आगे बढ़ाने का दायित्व होगा। श्री खान ने एक्सएलआरआई - जमशेदपुर से बिजनेस मैनेजमेंट में स्नातक में डिग्री हासिल की है। वो पहले रेजरपे (सबसे तेजी से बढ़ रहे पेमेंट गेटवेज में से एक) के चीफ इनोवेशन ऑफिसर थे। एचडीएफसी बैंक में अपने 15 वर्षों से अधिक समय के दौरान, श्री आरिफ ने पेमेंट्स, डिजिटल बैंकिंग एवं वित्तीय समावेशन में रणनीतिक पहलों को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। प्रोडक्ट मैनेजमेंट, बिजनेस डेवलपमेंट एवं इनोवेटिव बिजनेस व तकनीकी समाधान प्रदान में 18 वर्षों से अधिक समय के अनुभव के साथ, आरिफ इनोवेटिव बिजनेस एवं आधुनिक समाधान प्रदान करने में विभिन्न समूहों को प्रभावित करने में प्रमुख भूमिका निभाते रहे हैं।

एनपीसीआई के विषय में
भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) की स्थापना वर्ष 2009 में की गई, जिसे भारत के विभिन्न खुदरा रिटेल भुगतान सिस्टम्स के लिए सेंट्रल इंफ्रास्ट्रक्चर की आवश्यकता के अनुरूप स्थापित किया गया और बाद में, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा देश के सभी बैंकों के लिए पेमेंट यूटिलिटी के रूप में परिकल्पित किया गया। इंटर-बैंक एटीएम ट्रांजेक्शंस के स्विचिंग की सिंगल सर्विस से बढ़कर सेवाओं का काफी विस्तार हो गया है, जिसमें चेक ट्रंकेशन सिस्टम, नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस, आधार एनेबल्ड पेमेंट सिस्टम, यूएसएसडी आधारित ’99रु, इमेडिएट पेमेंट सर्विस, भारत इंटरफेस फॉर मनी - यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस, भीम आधार, नेशनल इलेक्ट्रॉनिक टॉल कलेक्शन और भारत बिलपे शामिल है, जिनका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय कार्ड योजनाओं का विकल्प प्रदान करना है। एनपीसीआई के फ्लैगशिप प्रोडक्ट, रूपे को प्रधानमंत्री जन धन योजना का पसंदीदा कार्ड बनाया गया।  

whatsapp mail