वैश्विक सुरक्षा एजेंसी का दावा, 100 करोड़ लोगों के आधार डाटा में हुई सेंधमारी

img

देश भर के करीब 1 अरब लोगों के आधार कार्ड डाटा में सेंधमारी होने का दावा किया गया है। डिजिटल सुरक्षा कंपनी जेमाल्टो ने रिपोर्ट जारी करते हुए  कहा है कि इस सेंधमारी में लोगों की काफी व्यक्तिगत जानकारी के साथ छेड़छाड़ की गई है। जेमाल्टो के अनुसार आधार कार्ड धारकों का नाम, पता और ईमेल आईडी व फोन नंबर की भी जानकारी लीक हुई है। जेमाल्टो ने कहा कि प्रत्येक 12 मामले सामने आने के केवल 1 के आधार कार्ड को सुरक्षित किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 की पहले छह महीनों में विश्व में डाटा लीक की कुल मामलों में से 57 फीसदी से ज्यादा अमेरिका में हुए। हालांकि पिछले साल की तुलना में देखें तो इसमें 17 फीसदी की कमी आई है। वहीं भारत की बात करें तो कुल मामलों में से 37 फीसदी डाटा लीक की घटनाएं यहां हुई। ब्रीच लेवल इंडेक्स के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, इस साल के शुरुआती छह महीनों में डाटा लीक की 945 घटनाएं हुईं, जिससे पूरी दुनिया में करीब 4.5 अरब डाटा रिकॉर्डों में सेंध लगाई गई। वहीं, भारत में यह आंकड़ा करीब एक अरब रहा। वहीं फेसबुक से दो अरब लोगों का डाटा लीक होने की घटना आधार के बाद विश्व में सबसे ज्यादा चर्चित रही। 

whatsapp mail