पेट्रोल-डीजल की राहत पर नहीं लगेगा ब्रेक: एक्सपर्ट

img

नई दिल्ली
बीते कुछ सत्रों में 8 फीसद तक की गिरावट दिखाने के बाद सोमवार के कारोबार में क्रूड की कीमतें स्थिर नजर आ रही हैं। दिन के 10 बजकर 33 मिनट पर डब्ल्यूटीआई क्रूड 1.35 फीसद की तेजी के साथ 51.10 और 1.77 फीसद ब्रेंट क्रूड 59.87 पर कारोबार करता देखा जा रहा है। मुश्किलों से जूझते वित्तीय बाजारों और कमजोर फंडामेंटल के चलते ब्रेंट क्रूड 60 डॉलर प्रति बैरल के नीचे आ चुका है। गौरतलब है कि कच्चे तेल में जारी नरमी के चलते भारत में पेट्रोल एवं डीजल की कीमतें लगातार कम हो रही हैं। कितना और नरम होगा क्रूड ? केडिया कमोडिटी के प्रमुख अजय केडिया ने बताया कि क्रूड (कच्चे तेल) की कीमतों में और गिरावट देखने को मिल सकती है। केडिया ने बताया कि डब्ल्यूटीआई क्रूड 75 डॉलर से 50 डॉलर पर आ चुका है यानी इसमें 25 डॉलर प्रति बैरल तक की गिरावट देखी गई है। इसकी प्रमुख वजह यह है कि ग्लोबल सप्लाई काफी ज्यादा है जबकि डिमांड उतनी नहीं केडिया कमोडिटी के प्रमुख अजय केडिया ने बताया कि क्रूड (कच्चे तेल) की कीमतों में और गिरावट देखने को मिल सकती है। केडिया ने बताया कि डब्ल्यूटीआई क्रूड 75 डॉलर से 50 डॉलर पर आ चुका है यानी इसमें 25 डॉलर प्रति बैरल तक की गिरावट देखी गई है। इसकी प्रमुख वजह यह है कि ग्लोबल सप्लाई काफी ज्यादा है जबकि डिमांड उतनी नहीं है। वहीं ईरान पर लगने वाले प्रतिबंधों में थोड़ी कमी आई है। यही वजह है कि कच्चा तेल गिर रहा है।

whatsapp mail