श्रेई ने पूंजी वृद्धि योजना और उपकरण फाइनेंस व्यवसाय की लिस्टिंग की शुरुआत की

img

शेयरधारकों के लिए उच्च वृद्धि वाले उपकरण फाइनेंस सेक्टर में सीधी सहभागिता का अवसर 

कोलकाता
भारत के सबसे बड़े सर्वांगीण इंफ्रास्ट्रक्चर संस्थानों में से एक, श्रेई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड (“श्रेई”) ने आज अपने इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस और इक्विपमेंट फाइनेंस, दोनों व्यवसायों की पूंजी वृद्धि के फैसले की जानकारी दी है. इससे उन्हें अपनी मौजूदा अग्रणी स्थिति आगे कायम रखने और मजबूत करने में मदद मिलेगी. इस कदम के फलस्वरूप व्यवस्था और एकीकरण की संयुक्त योजना (“स्कीम”) के माध्यम से कंपनी के उपकरण फाइनेंस व्यवसाय की लिस्टिंग होगी और श्रेई के शेयरधारकों को उच्च वृद्धि वाले उपकरण फाइनेंस सेक्टर में सीधे सहभागिता करने का अवसर मिलेगा. श्रेई के निदेशक मंडल ने आज संपन्न मीटिंग में स्कीम को स्वीकृति दे दी, जिस पर विनियामक, वैधानिक और अन्य आवश्यक स्वीकृति मिलनी बाकी है. इस अवसर पर श्रेई के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, श्री हेमंत कनोरिया ने कहा कि, “अपने तीन दसक के सफ़र में हम अपने शेयरधारकों के लिए महत्वपूर्ण मूल्य निर्माण करते रहे हैं. आज के इस फैसले से शेयरधारकों के निवल फण्ड में भारी बढ़ोतरी होगी और श्रेई के शेयरधारक इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस और उपकरण फाइनेंस बिज़नेस, दोनों से शेयर सीधे धारण कर सकेंगे. यह कदम हमारे शेयरधारकों के लिए मूल्य अभिवर्धक है जैसा कि वे दोनों व्यवसायों के सूचीबद्ध शेयरों के रूप में मुद्रीकरण योग्य संपत्तियाँ रख सकेंगे. प्रस्तावित पूंजी वृद्धि योजना से हमारे उपकरण फाइनेंस व्यवसाय में 500 करोड़ रुपये आने की उम्मीद है और इससे इसके राजस्व और लाभ में कई गुणा वृद्धि का रास्ता खुलेगा. वैश्विक और घरेलू निवेशक भी हमारे उपकरण फाइनेंस व्यवसाय में सीधे निवेश करके उच्च वृद्धि वाले उपकरण फाइनेंस सेक्टर में अवसरों का लाभ उठाने में समर्थ होंगे. सड़क, सिंचाई, खनन, रेलवे, बंदरगाह, सस्ते घर और अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर उप-क्षेत्रों में सरकार के भारी बजटीय आबंटन से प्रेरित इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में वृद्धि के कारण इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस और उपकरण फाइनेंस व्यवसाय की विकास संभावनाएं बढ़ गयी हैं. पिछले कुछ वर्षों में निर्माण, खनन और सम्बद्ध उपकरण (“सीएमई”) की बिक्री में काफी वृद्धि हुयी है और उद्योग को आने वाले वर्षों में मांग के मजबूत बने रहने की उम्मीद है. इससे इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस और उपकरण फाइनेंस, दोनों व्यवसायों का पूंजी वृद्धि कार्यक्रम प्रासंगिक हो गया है. 

श्रेई के विषय में : 
श्रेई भारत के सबसे बड़े सर्वांगीण मूलभूत संरचना संस्थानों में से एक है. यह मूलभूत संरचना के क्षेत्र में हमेशा और लगातार नवप्रवर्तनकारी समाधान मुहैया करता है. यह कंपनी करीब तीन दशकों से भारत के शहरी और ग्रामीण समुदाय के लिए राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है. श्रेई के व्यवसाय में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट फाइनेंस, एडवाइजरी और विकास, इंफ्रास्ट्रक्चर इक्विपमेंट फाइनेंस, वैकल्पिक निवेश निधि, पूंजी बाज़ार और इंश्योंरेंस ब्रोकिंग सम्मिलित हैं. श्रेई का मुख्यालय कोलकाता में है और पूरे भारत में इसकी उपस्थिति है.

whatsapp mail