होम क्रेडिट इंडिया ने लगातार दूसरे वर्ष कंज्यूमर ड्यूरेबल के लिए लघु ऋण में अव्वल स्थान बनाए रखा

img

नई दिल्ली
भारत की सबसे तेज़ी से बढ़ रही गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) में से एक और इस देश में सफल परिचालन के छह वर्ष पूरी कर चुकी होम क्रेडिट इंडिया फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड ने लघु आकार के ऋणों में नंबर 1 की स्थिति बनाए रखी है। कंपनी ने लगातार दूसरे वर्ष यह स्थान बनाए रखा। जुलाई-सितंबर, 2018 के दौरान होम क्रेडिट इंडिया ने 10,000 रुपये तक के कंज्यूमर ड्यूरेबल ऋ ण वर्ग में 53.20 प्रतिशत की शानदार बाजार हिस्सेदारी दर्ज की, जबकि 15,000 रुपये तक के कंज्यूमर ड्यूरेबल ऋ ण वर्ग में 35.22 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी दर्ज की। इसके अलावा, कंपनी की अखिल भारतीय बाजार हिस्सेदारी बढक़र 19 प्रतिशत पहुंच गई। यह जानकारी क्रेडिट ब्यूरो कारोबार, कारोबारी सूचना, विश्लेषण, निर्णय एवं सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस में विशेषज्ञता रखने वाली वैश्विक कंपनी सीआरआईएफ ने दी है। होम क्रेेेेडिट इंंडिया के चीफ बिजनेेस डेेवलपमेंट ऑॅॅॅफिसर श्री मार्टिन नवरातिल के मुताबिक, ‘हमारी भारत यात्रा के पिछले छह वर्षों में आसान, पारदर्शी और सुलभ वित्तीय समाधानों की पेशकश कर ऋ ण का दायरा बढ़ाने  का  हमारा  प्रयास  रहा  है। हमारा  मुख्य व्यवसाय  वित्त  पोषण  है जोकि  व्यापक  स्तर  पर  इन स्टोर फाइनेसिंग के रूप में उपलब्ध है जिसमें पात्र खुदरा गा्रहकों को अनुशासित जोखिम प्रबंधन के साथ वित्त की सुविधा प्रदान की जाती है। नए बाज़ारों  में सफलतापूर्वक  प्रवेश, अनुशासित जोखिम प्रबंधन के साथ अंडरराइटिंग क्षमता और ग्राहक को केंद्र में रखकर कारोबार करने  का  हमारा ट्रैक रिकॉर्ड रहा है। सीआरआईएफ की ओर से उत्साहजनक रिपोर्ट यह दर्शाती है कि हम पसंद के ऋणदाता बनने के हमारे प्रयासों में सही पथ पर हैं।’ क्रेडिट का इतिहास नहीं रखने वाले ग्राहकों को सेवाएं देने और उन्हें विनियमित वित्तीय क्षेत्र से जोडऩे की रणनीति के साथ काम कर रही होम क्रेडिट अपने ग्राहकों को निरंतर शानदार टिकाऊ मूल्य प्रदान कर रही है। सीआरआईएफ बैंकिंग, वित्तीय, बीमा, दूरसंचार, जनोपयोगी सेवा प्रदाता और कारोबारी दुनिया को निर्णय करने में मदद करने वाले उन्नत समाधान उपलब्ध कराती है, उनकी दिक्कतों को सुनती और समझती है और उनकी कारोबारी जरूरतें पूरी करती है जिससे प्रत्येक कंपनी अनूठी और भिन्न बनती है।

whatsapp mail