आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने स्वास्थ्य बीमा दावा अनुमोदन को स्वचालित बनाने के लिए कर रहा है एआई का उपयोग

img

मुंबई
भारत की अग्रणी निजी क्षेत्र की गैर-जीवन बीमा कंपनी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने तत्काल स्वास्थ्य बीमा दावों की मंजूरी को सुविधाजनक बनाने के लिए, भारत की पहली कृत्रिम बुद्धि (एआई) आधारित तकनीक लॉन्च की है। नतीजतन, परंपरागत कैशलेस दावा अनुरोध, जिसमें पहले 60 मिनट लगता था, अब एआई से यह काम एक मिनट में किया जा सकेगा। एआई, समाज और अर्थव्यवस्था के व्यापक डिजिटलीकरण के लिए मेगा प्रौद्योगिकी रुझानों में से एक बन गया है। इससे विभिन्न सेवाओं पर बेहतर असर पड़ता है। ग्राहक केंद्रित सुविधा सुनिश्चित करने के लिए नई तकनीक अपनाने में अग्रणी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने बीमा के सबसे महत्वपूर्ण पहलू दावा निपटान को बेहतर बनाने के लिए एआई और मशीन लर्निंग का उपयोग किया है। इस तकनीक सक्षम नवाचार में कंपनी ने इंटेलिजेंट कैरेक्टर रिकग्निशन (आईसीआर) और ऑप्टिकल कैरेक्टर रिकग्निशन (ओसीआर) के साथ संज्ञानात्मक कंप्यूटिंग के जरिए एल्गोरिदम का उपयोग किया है। अब तक, एआई मुख्य रूप से सरल सेवा को संभालने वाले चौट बॉट के संदर्भ में उपयोग किया जाता रहा है। चिकित्सा निदान को समझना एक जटिल गतिविधि है, जिसके लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने एआई प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया है। आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के कार्यकारी निदेशक संजीव मंत्री कहते हैं कि यह समाधान चिकित्सा आपात स्थिति को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। पॉलिसीधारकों के लिए इसका मतलब उनके अनुरोध की त्वरित नकदी रहित प्रक्रिया होगी। इस प्रकार यह सुनिश्चित करता है कि वे तत्काल उपचार का लाभ उठा सके जो चिकित्सा के मामले में बहुत महत्वपूर्ण है। यह समाधान हमारे ग्राहकों के लिए तेजी से, सुसंगत और सुविधाजनक प्रसंस्करण करेगा, जो उनके दावे के अनुभव को काफी बेहतर बनाता है। पारंपरिक दावा निपटान प्रक्रिया एक जटिल और समय लेने वाला कार्य था, जिसमें बहुत सी तकनीकी जानकारियों और उच्च मानव निर्भरता की आवश्यकता होती थी। हालांकि, एआई के तहत दावा दस्तावेजों से डेटा एकत्रित करना और सिस्टम में इसे अद्यतन करना शामिल है। सिस्टम में डेटा अपलोड होने के बाद, एआई आधारित तकनीक दावे की स्वीकार्यता का मूल्यांकन करती है। एक बेहतर लर्निंग मॉड्यूल तैनात किया जाता है, जो स्वचालित रूप से निर्धारित एल्गोरिदम का उपयोग करके अनुमोदित होने वाली राशि प्रदान करता है। विभिन्न चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे, मोतियाबिंद, मातृत्व, एपेंडिसाइटिस, हेमोडायलिसिस और हिस्टरेक्टॉमी आदि में एआई तैनात किया जा रहा है। बीमाकर्ता इस सूची को समय-समय पर विस्तारित करता रहेगा। यह पहली बार नहीं है, जब आईसीआईसीआई लोम्बार्ड अपने ग्राहकों के लिए अभिनव समाधान के साथ आया है। अतीत में भी इसने इंस्टास्पेक्ट जैसे कई इन्डस्ट्री फस्र्ट समाधान पेश किए हैं। जैसे, मोटर बीमा दावा के लिए इंस्टास्पेक्ट भारत का पहला रीयल टाइल क्लेम अप्रूवल समाधान है, जिसे लाइव वीडियो निरीक्षण के जरिए किया जा सकता है और ग्राहक क्वेरी प्रबंधन के लिए एआई संचालित इंटरफेस का उपयोग किया जा सकता है। आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के बारे में हम वित्तीय वर्ष 2018 (स्रोत- आईआरडीएआई) में सकल प्रत्यक्ष प्रीमियम आय के आधार पर भारत के सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का गैर-जीवन बीमाकर्ता रहे। यह स्थिति हमने वित्त वर्ष 2004 से लगातार बनाए रखी है, जब से निजी क्षेत्र की कंपनियों में से एक होने के नाते हमने अपना संचालन शुरू किया। हमने इस सेक्टर में वित्त वर्ष 2002 में कदम रखा। हम अपने ग्राहकों को कई वितरण चैनलों के माध्यम से मोटर, स्वास्थ्य, फसल, आग, व्यक्तिगत दुर्घटना, समुद्री, इंजीनियरिंग और देयता बीमा सहित उत्पादों की व्यापक रेंज प्रदान करते हैं। 

whatsapp mail