एयरसेल-मैक्सिस मामले की जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी का कार्यकाल बढ़ा

img

नई दिल्ली
सरकार ने एयरसेल-मैक्सिस मामले की जांच कर रहे सीबीआई के एक अधिकारी का कार्यकाल आज दो साल के लिये बढ़ा दिया। यह मामला पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और उनके पुत्र कार्ति चिदंबरम जुड़ा है। एक सरकारी आदेश में कहा गया है कि केंद्र सरकार ने विनीत विनायक और भानु भास्कर का प्रतिनियुक्ति कार्यकाल बढ़ा दिया है। दोनों केंद्रीय जांच ब्यूरो में संयुक्त निदेशक के रूप में काम कर रहे हैं। कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार विनायक सिक्किम कैडर के 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। उनका कार्यकाल नौ सितंबर, 2020 तक बढ़ाया गया है। वह एयरसेल-मैक्सिस मामले को देख रहे हैं। साथ ही ब्रिटेन की कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा आंकड़े में सेंधमारी की जांच के प्रभारी हैं। एयरसेल-मैक्सिस मामले में सीबीआई ने 19 जुलाई को आरोपपत्र दाखिल किया। इसमें पी चिदंबरम और उनके बेटे का नाम है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश कैडर के 1996 बैच के आईपीएस अधिकारी भास्कर का कार्यकाल पांच अगस्त, 2020 तक बढ़ाया गया है। भास्कर की टीम बिहार सरकार वित्त पोषित आश्रय गृह में नाबालिग लड़कियों के कथित मानसिक, शारीरिक और यौन शोषण मामले की जांच कर रही है। 

whatsapp mail