भारतीय कंपनियों ने बनाई नई स्पोर्ट्स कारें

img

नई दिल्ली
भारतीय ऑटो मार्केट लगातार ग्रोथ कर रही है। बड़ी-बड़ी विदेशी कार कंपनियों ने भारत में अपना प्रोडक्शन शुरू कर दिया है। अब भारतीय मार्केट में प्रीमियम कारों के साथ-साथ स्पोर्ट्स कारों की मांग भी बढऩे लगी है। फिलहाल इस सेगमेंट में विदेशी कंपनियों का बोलबाला है, लेकिन अब भारतीय कंपनियां भी इस सेगमेंट में उतर चुकी है। आज हम आपको भारतीय कंपनियों द्वारा बनाई गई स्पोर्ट्स कार और सुपरकारों के बारे में बताने जा रहे हैं। यह सुपरकार दिलीप छाबरिया ने बनाई है। यह कार मेड इन इंडिया और मेड फॉर इंडिया है। इसका नाम Avanti अमेरिका की सबसे पावरफुल 4 सीटर कूपे से लिया गया है। इसमें 2.0 लीटर टर्बोचार्ज्ड इंजन लगा है जो 250 bhp की पावर और 340 Nm का टॉर्क जनरेट करता है। दावा है कि यह कार 6 सेकंड में 0-100 किमी प्रति घंटे की स्पीड पकड़ लेती है। इसकी कीमत लगभग 25 लाख रुपये है। इसका एक प्रीमियम वर्जन TCA स्पोर्ट्सकार है। इसकी कीमत 65 लाख रुपये है। इसकी केवल 299 यूनिट्स बनाई जाएंगी। इस कार का नाम M-Zero है। इसे चार देशों की चार टीमों द्वारा मिलकर बनाया जा रहा है। इन टीमों में पुर्तगाल, इटली, इंग्लैंड और भारत की टीमें शामिल हैं। ये टीमें पिछले कुछ सालों से एक नई हाइब्रिड सुपरकार पर काम कर रही है। अभी इस कार का प्रोटोटाइप तैयार कर लिया गया है। यह अगले साल तक बाजार में दिख सकती है। हालांकि, इसे भारत में नहीं बनाया जा रहा है लेकिन इसे तैयार करने में भारतीयों का भी हाथ है। इसमें एन्वायरमेंट कंट्रोल के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, इंफोटेनमेंट, बैटरी मीटर, स्पीडो मीटर जैसे फीचर्स दिए जाएंगे। इसका प्रोटोटाइप वर्जन जल्दी ही पेश किया जाएगा। माना जा रहा है कि इसे भारत में भी लॉन्च किया जा सकता है. टाटा ने इसे 87वें जेनेवा मोटर शो में पेश किया था। इसे टाटा के सब-ब्रांड TAMO के अंडर प्रोड्यूस किया गया है। RaceMo एक टू-सीटर स्पोर्ट्स कार होगी, जिसमें 1.2 लीटर टर्बोचार्ज्ड रेवोट्रोन एल्यूमिनियम इंजन लगा होगा। यह इंजन 186 bhp की पावर और 210 Nm का टॉर्क जनरेट करेगा। इंजन में 6-स्पीड एएमटी ट्रांसमिशन दिया जाएगा। यह 6 सेकंड में 0-100 किमी प्रति घंटे की स्पीड पकड़ लेती है। इसका ग्राउंड क्लियरेंस 165 द्वद्व है जो भारतीय सड़कों के लिहाज से अच्छा माना जाता है। कंपनी अभी इस गाड़ी पर काम नहीं कर रही है, लेकिन माना जा रहा है कि इस पर काम जल्द शुरू हो सकता है। ङ्कड्ड5द्बह्म्ड्डठ्ठद्ब ्रह्वह्लशद्वशह्लद्ब1द्ग ने इस साल के गुडवुड फेस्टिवल ऑफ स्पीड में ङ्कड्ड5द्बह्म्ड्डठ्ठद्ब स्द्धह्वद्य हाइपरकार का कॉन्सेप्ट पेश किया था। इस साल के अंत तक इसके प्रोटोटाइप की टेस्टिंग शुरू हो जाएगी। चंकी वजीरानी इस समय ङ्कड्ड5द्बह्म्ड्डठ्ठद्ब ्रह्वह्लशद्वशह्लद्ब1द्ग के प्रमुख हैं। इससे पहले वो सहारा फोर्स इंडिया फॉर्मूला 1 टीम और टायर मेकर मिशलिन के साथ इलेक्ट्रिक हाइपरकार बनाने में काम कर चुके हैं। ङ्कड्ड5द्बह्म्ड्डठ्ठद्ब स्द्धह्वद्य का लुक क्कद्बठ्ठद्बठ्ठद्घड्डह्म्द्बठ्ठड्ड ॥2 स्श्चद्गद्गस्र ष्टशठ्ठष्द्गश्चह्ल से मिलता है। इसमें चार इलेक्ट्रिक मोटर सेटअप के साथ जेट टर्बाइन इंजन लगा होगा। इसे इंग्लैंड की एक कंपनी के साथ मिलकर तैयार किया गया है।

whatsapp mail