जूमकार ने जयपुर में कार सबस्क्रिप्शन मॉडल जैप पेश किया

img

जयपुर
भारत की सबसे बड़ी सेल्फ ड्राइव शेयर मोबिलिटी प्लेटफॉर्म जूमकार ने जयपुर में कार सबस्क्रिप्शन मॉडल पूरे परिचालनों के साथ लांच करने की घोषणा की। जैप सबस्क्रिप्शन जूमकार का प्रमुख फ्रेक्शनल शेयरिंग कार्यक्रम है जहां कोई 6, 12 या 24 महीने के लिए कार की सदस्यता ले सकता है और तकनीकी रूप से जब भी चाहें नई कार खरीद कर सकता है। हाल ही में, भारत में शेयर मोबिलिटी रुझानों में शहरीकरण में नवीनीकृत रुचि और बढ़ते पर्यावरण, ऊर्जा और आर्थिक चिंताओं ने स्थायी विकल्पों की आवश्यकता को तेज कर दिया है। जयपुर आज राजस्थान में जूमकार के लिए सबसे बडे बाजारों में से एक है। जैप सबस्क्रिप्शन लांच होने के बाद इसकी सदस्यता का आधार बढ़कर दुगना हो गया है । आज की तारीख में ग्राहक पंजीकरण 3000 से अधिक है। इस सदस्यता आधार का सबसे बड़ा हिस्सा श्रमजीवी वर्ग के पेशेवरों एवं छोटे एवं मध्यम आकार के कारोबारियों का है। इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के मामले में जूमकार भारत में सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है, सबस्क्रिप्शन पर महिन्द्रा की ई2ओ प्लस की 10 से अधिक कारें  जयपुर में, वहीं पूरे भारत के 10 शहरों में इसके 300 से अधिक कारें है। महिंद्रा ई2ओ प्लस जैप पर उपलब्ध है और 9999 रुपए प्रति माह की किफायती दर पर सदस्यता दी जाती है। जूमकार के सबस्क्रिप्शन मॉडल के सबसे बड़े ओईएम भागीदारों में मारूति, हुण्डई, फोर्ड, महिन्द्रा और टाटा है। जैप सबस्क्राइब व्यक्तिगत कार पाने का एक क्रांतिकारी मार्ग है। जिसमें किसी प्रकार के डाउन पेमेंट, सर्विस और बीमा जैसी झंझटों का सामना नहीं करना पड़ता। सब्सक्रिप्शन मॉडल कार किराए पर लेने वालों के लिए अपने पड़ोस में कारों तक आसानी से पहुंचने की सुविधा पेश करने में मदद करता है। जैप सदस्यता जयपुर, दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और बैंगलोर जैसे 35 से अधिक शहरों में तेजी से बढ़ रही है, जिसमें सब्सक्राइब कारों के माध्यम से 1000 से अधिक सदस्य जूमकार के बेड़े के 25 प्रतिशत कारों का इस्तमाल कर रहे हैं। इसके बारे में बात करते हुए, जूमकार के सह संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ग्रेग मोरन ने कहा, 'जैप सदस्यता के साथ, जूमकार ने भारत में अपने तरह का पहला कार सदस्यता मॉडल का परिचय दिया है। पिछले कई सालों में, भारत ने उल्लेखनीय मानसिकता में परिवर्तन देखा गया है और अब स्वामित्व की जगह उपलब्धता को अधिक महत्व  दिया जाता है। जैप सदस्यता इस सोच का लाभ उठाती है जबकि साझा अर्थव्यवस्था के तत्व भी एक निजी वाहन तक पहुंचने के लिए नाटकीय रूप से कम लागत के लिए प्रेरित करते है। उन्होंने कहा कि सदस्यता का हमारा प्राथमिक उद्देश्य ग्राहक के लिए परेशानी को कम करने के लिए प्रौद्योगिकी और डेटा विज्ञान का लाभ उठाना है। ग्राहकों को सेवाओं का उपयोग करने के लिए मासिक सदस्यता शुल्क का भुगतान करना होगा। सदस्यता के पंजीकरण की प्रक्रिया काफी सरल है यूजर्स को अपने आपको पंजीकृत कराने के लिए डब्लयू डब्लयू डब्लयू डॉट जैपसबस्क्राइब डॉट कॉम पर जाना होगा, जहां वे अपनी पसंद का वाहन चुन सकते हैं तथा इसे लौटाने योग्य सिक्योरिटी राशि 2010 रुपए जमा करवा कर आरक्षित करवा सकते हैं। कार सिक्योर होने के बाद एक महीने का किराया अग्रिम देना होगा। सफलता पूर्वक भुगतान हो जाने के पश्चात 48 घंटे के भीतर कार की डिलीवर कर दी जाती है। सबस्क्राइबर्स अपनी कार जब बिना किसी काम खड़ी हो तो उसे जैप पर सूचीबद्ध करवा सकते हैं, ताकि इसे अन्य ग्राहक को साझा किया जा सके और इससे मूल ग्राहक के मासिक शुल्क में बचत हो सके। अप्रैल 2013 में लॉन्च की गई जूमकार ने भारत के अधिकांश शहरों में मजबूत पकड बनायी है, जिसमें 35 शहरों में लगभग 12 लाख ट्रिप, जो औसतन 4-6 हजार रुपये के होते हैं। जूमकार ने देश में भारी वृद्धि प्रदर्शित करते हुए भारतीय सेल्फ ड्राइव मोबिलिटी प्लेटफॉर्म पर स्वयं को अग्रणी खिलाड़ी के रूप में स्थापित किया है। वर्तमान में जूमकार के पूरे भारत में 30 लाख से भी अधिक पंजीकृत यूजर्स हैं जिसमें सबस्क्राइब्ड कारों सहित 4000 कारों का बेड़ा है। जैप सबस्क्रिप्शन में 20 से अधिक मॉडल्स हैं जिनमें हैचबैक, सेडान्स और एसयूवी शामिल हैं, इसकी अधिकता टीयर 1 और टियर 2 शहरों में है। मेट्रो और नॉन मेट्रो का योगदान इसमें 80 और 20 प्रतिशत है यह पूरी तरह से लाभकारी कारोबार है जिसमें जूमकार के लिए जयपुर का एक नॉन मेट्रो शहर होने के बावजूद महत्वपूर्ण योगदान है।

whatsapp mail