वैश्विक संकेतक इस सप्ताह तय करेंगे बाजार की दिशा

img

नई दिल्ली
चीन और अमेरिका के बीच व्यापार वार्ता, तुर्की की मुद्रा लीरा के उतार-चढ़ाव और रुपये का रुख इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय करेगा। विशेषज्ञों ने यह राय जताई है। हेम सिक्योरिटीज के निदेशक गौरव जैन ने कहा, यह सप्ताह सकारात्मक रहने की उम्मीद है। वृहद मोर्चे पर निवेशक चीनी प्रतिनिधिमंडल की अमेरिका के साथ बातचीत से सकारात्मक नतीजों की उम्मीद कर रहे हैं। यह वार्ता 22 और 23 अगस्त को होनी है। एपिक रिसर्च के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुस्तफा नदीम ने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच ताजा वार्ता तथा कच्चे तेल का उतार-चढ़ाव महत्वपूर्ण घटनाक्रम होंगे। तुर्की की मुद्रा में कुछ सुधार तथा अमेरिका और तुर्की के संबंधों बेहतर होने पर लघु अवधि में भारतीय रुपया भी सुधरेगा। इसके अलावा निवेशकों की निगाह फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) की बैठक के ब्योरे पर भी रहेगी, जो बुधवार को आना है। इक्विटी 99 के वरिष्ठ तकनीकी अनुसंधान विश्लेषक राहुल शर्मा ने कहा, कंपनियों के तिमाही नतीजों का सीजन पूरा हो गया है। इस सप्ताह बाजार में विशेष शेयर आधारित गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 78.65 अंक या 0.21 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,947.88 अंक पर बंद हुआ। 

whatsapp mail