एपल को पछाड़ माइक्रोसॉफ्ट बनी सबसे मूल्यवान अमेरिकी कंपनी

img

नई दिल्ली
टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दिग्गज माइक्रोसॉफ्ट ने बाजार पूंजीकरण के लिहाज से अब तक अमेरिका की सबसे मूल्यवान कंपनी रही एपल को पछाड़ दिया है। शुक्रवार को माइक्रोसॉफ्ट का बाजार पूंजीकरण 75,330 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया। वहीं, एपल का बाजार पूंजीकरण घटकर शुक्रवार के आखिर में 74,680 करोड़ डॉलर पर आ गया। वर्ष 2010 में भी एक बार माइक्रोसॉफ्ट का बाजार पूंजीकरण एपल के पूंजीकरण के बेहद करीब पहुंच गया था। लेकिन उस वक्त दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित टेक्नोलॉजी कंपनी को माइक्रोसॉफ्ट पीछे नहीं छोड़ पाई थी। इस वर्ष अगस्त में एपल ने एक लाख करोड़ डॉलर का पूंजीकरण हासिल कर अमेरिका की ऐसी पहली कंपनी होने का रुतबा हासिल किया। लेकिन हाल की कुछ खबरों के चलते कंपनी का बाजार पूंजीकरण लगातार घटता गया। इनमें आइफोन की उम्मीद से कम बिक्री तथा कंपनी के सप्लायरों की ओर से किए गए खर्च और मानव संसाधन में कटौती की खबरें प्रमुख रहीं। अब अमेरिका की सबसे मूल्यवान कंपनियों में माइक्रोसॉफ्ट और गूगल के बाद तीसरे स्थान पर अमेजन है। अमेजन का बाजार पूंजीकरण 73,660 करोड़ डॉलर है। वहीं, 72,550 करोड़ डॉलर बाजार पूंजीकरण के साथ अल्फाबेट चौथे स्थान पर है। एक स्थानीय वेबसाइट के मुताबिक सिलिकन वैली की दिग्गजों में माइक्रोसॉफ्ट ने शीर्ष चार में से तीन को पीछे छोड़ दिया है।

whatsapp mail