असेम्बल की गई पहली कार एक्ससी 90 पेश की गई

img

  • वोल्वो कार्स ने 'मेक इन इंडिया' की योजना को सफल बनाया

बंगलुरू  स्वीडन की लग्जऱी कार निर्माण कम्पनी वोल्वो कार्स ने बंगलुरू प्लांट में असेम्बल की गई पहली लग्जऱी कार एक्ससी 90 पेश कर 'मेक इन इंडिया' का अपना वादा पूरा किया है। इसी साल गर्मी के मौसम में वोल्वो ने 2017 में भारत में असेम्बली आरंभ करने का वादा किया था। भारत में लग्जऱी कार सेगमेंट में लंबी अवधि तक तेजी की संभावना दिखती है और स्थानीय तौर पर वोल्वो कार असेम्बल करने के निर्णय से कम्पनी को एक मज़बूत आधार मिला है जिससे इस दशक के अंत तक इस सेगमेंट में वोल्वो की 10 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।
असेम्बली का काम दक्षिण भारत के बंगलुरु के पास होता है। इसमें एसपीए मॉड्युलर वेइकल आर्किटेक्चर के आधार बने मॉडलों पर जोर दिया गया है। एक्ससी 90 के अलावा एसपीए आर्किटेक्चर पर अन्य मॉडलों का भी स्थानीय निर्माण होगा। इसके बारे में घोषणा बाद में की जाएगी। 
वोल्वो कार्स का असेम्बली में साझेदार वोल्वो ग्रुप इंडिया है जो ट्रक, बस, कंस्ट्रक्शन उपकरण और पेंटा इंजन का निर्माता है। कम्पनी बंगलुरु के निकट वोल्वो ग्रुप इंडिया के मौजूदा इन्फ्रास्ट्रक्चर और प्रोडक्शन लाइन का उपयोग करती है। 
वोल्वो ऑटो इंडिया के नए प्रबंध निदेशक चाल्र्स फ्रम्प ने कहा कि वोल्वो कार्स में यह हम सभी के लिए बहुत खुशी और गौरव का अवसर है । बंगलुरु में असेम्बल की गई पहली कार पेश करना भारत में वोल्वो कार्स के कारोबार को तेजी से फैलाने की प्रतिबद्धता की मिसाल है। भारत में पिछले तीन वर्षों का हमारा अनुभव अच्छा रहा है। हम ने इस सेगमेंट की हिस्सेदारी बढ़ते देखा है और यह बहुत उत्साहवद्र्धक है। इस दौरान हमारे वल्र्ड-क्लास प्रोडक्ट आए हैं और नए डीलर बनाए गए हैं। 
पूरी दुनिया में गुणवत्ता को लेकर मशहूर वोल्वो कार्स की भारत में लग्जऱी कार के दमदार ब्राण्ड के रूप में पहचान है। हम इस सेगमेंट में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने की दिशा में तेजी से बढ़ रहे हैं।  वोल्वो कार्स द्वारा भारत में अपने मॉडल असेम्बल करने का निर्णय लेना 'मेक इन इंडिया' की बड़ी सफलता है और ग्राहकों को इसका लाभ होगा। हालांकि भारत में लग्जऱी कार का बाजार छोटा है पर आने वाले वर्षों में इसके तेजी से फैलने की उम्मीद है।