जैश ने ली जिम्मेदारी आतंकी हमले में 2 आतंकी ढेर, 2 जवान भी शहीद

img

जम्मू
जम्मू-कश्मीर में सुंजवां आर्मी कैंप पर शनिवार को आतंकियों ने हमला किया। शनिवार की सुबह पांच बजे करीब शुरू हुए इस आतंकी हमले में समाचार लिखे जाने तक दो जवान शहीद हो गए हैं, जबकि 9 के घायल होने की खबर है। इनमें से 2 की हालत गंभीर बताई जा रही है। हमले में सेना के जवान की बेटी भी घायल हो गई है।
सेन्य प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षाबलों ने 2 आंतकी को मार गिराया। आतंकियों के पास एके56 राइफल और अन्य हथियार भी बरामद किए गए। आतंकियों के कब्जे में कोई बंधक नहीं है। कुल 26 में से 19 फ्लैट खाली कराए गए। सेना कैंप के अंदर मौजूद आतंकियों को खदेडऩे के लिए ऑपरेशन तेज किया। क्यूआरटी की चार टीमों को आर्मी कैंप के अंदर भेजा गया। ऑपरेशन के लिए पैरा कमांडो को भी तैनात किया गया। आइएएफ के पैरा कमांडो को उधमपुर और सरसाव से जम्मू बुलाया गया था। उन्होंने उस घर को चारों ओर से घेर लिया गया, जिसमें आतंकी छिपे हुए थे। इस घटना पर गृह मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय ने नजर बनाए रखी। 
इस बीच आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है। सेन्य प्रवक्ता ने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के लिए सर्च ऑपरेशन किया गया। ये ऑपरेशन तब तक जारी रहेगा, जब तक सभी आतंकी मारे या पकड़े नहीं जाते। उन्होंने बताया कि अब तक 2 आतंकी ढेर किए जा चुके हैं। आतंकी किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने के लिए आए थे।
सुबह पांच बजे करीब शुरू हुई फायरिंग 
यह हमला सुंजवां आर्मी कैंप पर शनिवार को किया गया। आतंकियों ने सुबह 4:55 बजे अंधेरे का फायदा उठाते हुए सेना के कैंप पर फायरिंग शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक यह हमला कैंप के फैमिली क्वॉर्टर्स पर किया गया।
जम्मू के आइजीपी एसडी सिंह जमवाल ने बताया कि सुबह करीब 4 बजकर 55 मिनट पर कैंप के भीतर संतरी ने संदिग्ध गतिविधियों को होते देखा। संतरी के बंकर से गोलियों की आवाजें आ रही थी, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई की गई। फिलहाल कितने आतंकी है इसकी संख्या का पता नहीं चल सका है। आतंकी एक फैमिली क्वॉर्टर में भी घुस गए हैं। हमले में एक हवलदार और उसकी बेटी घायल हो गए हैं। ऑपरेशन अब भी जारी है। 
माना जा रहा है कि यह फिदायीन हमला हो सकता है, लेकिन अभी तक इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले को अंजाम दिया है। अभी तक आतंकियों की संख्या का पता नहीं चल सका है।