हज यात्रियों को बताए भीड़ में बेहोश हुए साथी को बचाने के त्वरित उपाय

img

जयपुर
हज पर जाने वाले यात्रियों को यात्रा और हज के दौरान क्या सावधानियां बरतनी हैं यह सब विभिन्न स्थानों पर शिविरों में बताया जा रहा है। स्टेट हज कमेटी और हज यात्रा वेलफेयर सोसायटी की ओर से आयोजित प्रशिक्षण शिविर में बताया गया कि मक्का में त्वाफ यानी परिक्रमा के दौरान सात चक्कर में से पहले के तीन चक्कर सीना तानकर निकाले और बाकी के चार चक्कर सामान्य अवस्था में। भीड़ के कारण कोई साथी अगर बेहोश हो जाए तो तत्काल अपने साथी को बचाने के लिए हमें क्या करना है। हजयात्रा के दौरान किस तरह के कपड़े पहनने हैं। पूरी यात्रा के दौरान नशे की किसी भी वस्तु का सेवन नहीं करना है। पूरी पवित्रता और नियमों की पालना कर हम खुदा की इबादत करें। साथ ही यात्रा में कौनसा सामान साथ ले जाना है और कितने वजन का इन सब जानकारियों के साथ हजयात्रा के लिए जाने वाले हाजियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया। हज पर जाने वाले महिला और पुरुषों को हजयात्रा में रवानगी से लेकर वहां जेदाह, मक्का और मदीना में होने वाले सभी कार्यों की जानकारी दी गई। हजयात्रा के लिए एक से 16 अगस्त तक जयपुर से हवाई यात्रा प्रारंभ होगी।