नरेश अग्रवाल ने सपा छोड़ धारण किया भगवा

img

लखनऊ
समाजवादी पार्टी द्वारा राज्यसभा नहीं भेजे जाने से नाराज हुए नरेश अग्रवाल ने भाजपा का दामन थाम लिया है। भाजपा मुख्यालय में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में नरेश अग्रवाल ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। सियासी गलियारे में इस बात की चर्चा पिछले काफी समय से थी। दरअसल, कुछ दिन पहले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी से सपा का राज्यसभा उम्मीदवार जया बच्चन को बनाने की घोषणा की थी। इसके बाद से नरेश अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी से आंखे तरेर ली और भाजपा की तरफ उनका रुझान दिखने लगा था। 
समाजवादी का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हुए राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने सपा के प्रति अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि समाजवादी पार्टी में उनकी तुलना फिल्मों में नाचने और काम करने वाले लोगों के साथ की गई। उनकी यह टिप्पणी जया बच्चन पर थी। उनके इस बयान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि जया बच्चन के विषय में नरेश अग्रवाल की टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है। भाजपा सदस्य बनने के बाद नरेश अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि जया बच्चन की वजह से उनका राज्यसभा का टिकट कटा है। हालांकि उन्होंने भाजपा में शामिल होने की किसी 'शर्त' की खबरों और भाजपा से राज्यसभा जाने के सवाल को को खारिज कर दिया। दरअसल अग्रवाल को अखिलेश से इस बात की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि उनका राज्यसभा का टिकट कटेगा। 

लेकिन टिकट कटने पर उन्होंने सपा की धुर विरोधी पार्टी का दमान थाम लिया। जोड़-तोड़ की राजनीति के माहिर खिलाड़ी नरेश अग्रवाल की पैठ सूबे के सभी राजनीतिक दलों में है। यही वजह है कि अक्सर उनके बारे में पार्टी बदलने की खबर आती रहती है।