गूगल देगा फ्री वाई-फाई की सुविधा, इंटरनेट से जुड़ेंगे 4 करोड़ से ज्यादा यूजर्स

img

नई दिल्ली

रेलवे स्टेशन्स पर उपलब्ध गूगल और रेलटेल वाई-फाई सर्विस की सफलता के बाद अब भारत में पब्लिक वाई-फाई से संबंधित कई नए प्लान्स कतार में हैं। गूगल की एक नई रिपोर्ट के मुताबिक, नए वाई-फाई हॉटस्पॉट्स ने भारत में 4 करोड़ नए इंटरनेट यूजर्स को जोड़ा है। वहीं, अगर और नए वाई-फाई हॉटस्पॉट इंस्टॉल किए जाते हैं तो यह भारत की इकोनॉमी को करीब 1.36 लाख करोड़ रुपये तक बढ़ा सकती है। गूगल अपने नए वाई-फाई विजन के जरिए पूरे भारत को कवर करना चाहता है। गूगल अब रेलवे स्टेशन्स के अलावा अन्य जगहों पर भी वाई-फाई लगाएगा। 

  • इंटरनेट यूसेज बढ़ाने के लिए नए यूजर्स को इंटरनेट से जोड़ना
  • 4 करोड़ इंटनरेट यूजर्स और जुड़ सकते हैं
  • फ्री वाई-फाई से प्रभावित होकर करीब 10 करोड़ नए स्मार्टफोन यूजर्स जुड़ेंगे
  • अगर 10 करोड़ नए यूजर्स अगर नए स्मार्टफोन खरीदते हैं तो वो जीडीपी में 2 से 3 बिलियन डॉलर का निवेश कर सकते हैं
  • नए इंटरनेट यूजर्स के जुड़ने से भारत की जीडीपी में 20 मिलियन डॉलर की बढ़ोतरी हो सकती है

इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए गूगल को सरकार के प्लान के अनुरूप चलना होगा। सरकार की नेशनल डिजिटल कम्यूनिकेशन पॉलिसी के तहत साल 2020 तक 5 मिलियन और 2022 तक 10 मिलियन नए एक्सेस प्वाइंट लगाने होंगे। इसके लिए गूगल अलग-अलग इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स और संस्थानों से पार्टनरशिप करने का प्लान कर रहा है। नेक्सट बिलियन यूजर्स के गूगल इंडिया के डायरेक्टर ने कहा कि इंडिया के एक्सेस स्टोर के बदलाव की यह बस एक शुरुआत है। साल 2016 में डिजिटल इंडिया के तहत रेलवे स्टेशन्स पर वाई-फाई लगाने की मुहीम मुंबई स्टेशन से शुरू की गई थी। असम का डिब्रूगढ़ रेलवे स्टेशन वाई-फाई वाला 400वां स्टेशन बन गया है। गूगल के मुताबिक रेलटेल के साथ मिलकर लाखों-करोड़ों भारतीयों को जोड़ने की उनकी मुहिम कामयाब हो रही है। रेलटेल, भारतीय रेलवे का तकनीकी विभाग है। डिजिटल इंडिया के तहत पहले साल में गूगल ने रेलवे के साथ मिलकर 100 सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन्स को फ्री वाई-फाई के साथ जोड़ा। जिससे कि करीब 15 हजार लोगों को पहली बार हर रोज मुफ्त में इंटरनेट इस्तेमाल करने को मिला।