महिन्द्रा ने लॉन्च किया माई एग्री गुरु 2.0

img

नई दिल्ली
महिन्द्रा एंड महिन्द्रा की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुशंगी कंपनी महिन्द्रा एग्री सॉल्यूषंस लिमिटेड (एमएएसएल) ने किसानों के लिए माई एग्री गुरु 2.0 को लॉन्च किये जाने की घोशणा की है। इस लोकप्रिय ऐप का नया वर्जन तकनीकी रूप से उन्नत है और किसानों के लिए डिजिटल एडवाइजरी प्लेटफॉर्म के रूप में काम करता है।
महिन्द्रा एग्री सॉल्यूषंस प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और सीईओ अशोक शर्मा  ने माई एग्री गुरु 2.0 के लॉन्च के अवसर पर कहा, "माई एग्री गुरु 2.0 फसलों की उत्पादकता में सुधार सुनिश्चित करने के लिए किसानों को निजी सलाह देने वाली सेवा है। माई एग्री गुरु ने अब तक 4,00,000 से ज्यादा किसानों तक पहुंच स्थापित की है। ऐप के सबसे लोकप्रिय सेक्शन एग्री बज में अब तक 55,000 से अधिक संवाद दर्ज किये गये हैं। इस तरह यह अब तक देश भर में काफी तेजी से बढ़ती हुई एग्री एडवाइजरी ऐप बन गया है।" किसानों को इस ऐप से जुडऩे में और मदद उपलब्ध कराने के लिए हमने आवाज आधारित एग्री एडवाइजरी चैटबोट विकसित किया है। इस ऐप की आवाज को पहचानने और मशीन लर्निंग तकनीक की मदद से किसानों के सवालों के जवाब तुरंत मिल जाते हैं। ऐप से किसानों को मंडी में चल रहे दामों की जानकारी मिलती है, जिससे उन्हें पता चलता है कि किस मंडी में वह अपनी फसल बेचकर ज्यादा से ज्यादा कमाई कर सकते हैं। माई एग्री गुरु 2.0 ऐप एंड्रॉयड फोन पर गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।
शर्मा ने कहा, ''माई एग्री गुरु 2.0 .षि क्षेत्र में सबसे उन्नत तकनीकी समाधान को पेश करने की हमारी प्रतिबद्धता का प्रतीक है। हम मानते हैं कि ये ऐसे उपकरण फार्मिंग 3.0 के नए युग का श्रीगणेश करने में हमारी मदद करेंगे, जिससे डिलिवरिग फार्म टेक प्रॉसपैरिटी (समृद्धिषील कृशि तकनीक प्रदान करना) के हमारे विजन की तर्ज पर फसलों की उत्पादकता बढ़ेगी किसानों की आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी।
फरवरी 2017 में लॉन्च किया गया माई एग्री गुरु भारत का पहला समग्र डिजिटल ऐडवाइजरी प्लेटफॉर्म हैं, जो किसानों और विशेषज्ञों के बीच दोतरफा संवाद उपलब्ध कराता है। किसी दूसरे ऐप्स की तुलना में माई एग्री गुरु यह सुनिश्चित करता है कि किसानों को उनकी समस्या का सामाधान तुरंत मिल जाए।
माई एग्री गुरु को दूसरे ऐप से अलग करने वाला एक पहलू यह भी है कि इसमें मांग के आधार पर कंटेंट जेनरेट होता है। ऐप यूजर कम्युनिटी के बीच रोजाना होने वाले अनगिनत विचार-विमर्श का विश्लेषण कर दिलचस्पी के विषय तो पहचानता है और किसानों के सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान सुनिश्चित करता है।


 इस समय अंग्रेजी और हिंदी में मौजूद यह ऐप जल्द ही मराठी में उपलब्ध होगा।