एशियन गेम्स के लिए 18 सदस्यीय भारतीय हॉकी टीम में रुपिंदर व आकाश की वापसी

img

नई दिल्ली
अनुभवी ड्रैगफ्लिकर रुपिंदर पाल सिंह और स्ट्राइकर आकाशदीप सिंह ने अगले महीने इंडोनेशिया में होने वाले एशियन गेम्स के लिए भारत की 18 सदस्यीय पुरुष हॉकी टीम में वापसी की है। हॉकी इंडिया ने सोमवार को भारतीय टीम की घोषणा की, जिसमें चैंपियन ट्रॉफी की उपविजेता रहने वाली टीम में सिर्फ दो बदलाव किए गए हैं। भारत ने हाल ही में नीदरलैंड्स में चैंपियंस ट्रॉफी में रजत पदक जीता था। चैंपियंस ट्रॉफी की टीम से रुपिंदर को आराम दिया गया था। वह जर्मनप्रीत सिंह की जगह टीम में लौटे हैं। आकाशदीप ने चोटिल रमनदीप सिंह की जगह ली है। चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान रमनदीप के दायें घुटने में चोट लग गई थी। गोलकीपर पीआर श्रीजेश के नेतृत्व वाली बाकी टीम वही है जिसने चैंपियन ट्रॉफी के अंतिम टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। चिंग्लेनसाना सिंह को उप कप्तान के रूप में बरकरार रखा गया है और मिडफील्ड में वह अनुभवी सरदार सिंह, मनप्रीत सिंह, सिमरनजीत सिंह और विवेक सागर प्रसाद के साथ हैं। भारत ने 2014 के इंचियोन एशियन गेम्स के फाइनल में पाकिस्तान को हराकर स्वर्ण जीता था और 2020 के टोक्यो ओलंपिक में सीधे प्रवेश के लिए वह एक बार फिर खिताब जीतना चाहेगा। एशियन गेम्स से पहले अगले तीन सप्ताह में भारत दक्षिण कोरिया के साथ पांच और न्यूजीलैंड के साथ तीन अभ्यास मैच खेलेगा। हमारे खिलाडिय़ों का मिश्रण शानदार है जिन्होंने हाल की प्रतियोगिताओं में अपनी क्षमताएं दिखाई हैं, लेकिन बदकिस्मती से हमें रमनदीप सिंह के अनुभव की कमी खलेगी, लेकिन एशियन गेम्स में हम निश्चित रूप से स्वर्ण पदक जीतने के लिए उतरेंगे ताकि हम टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर सकें।