सोशल मीडिया पर गंगा माँ का अपमान

img

  •   मुजफ्फरनगर का जाकिर अली पहुंचा सींखचों के पीछे
  •     गंगा मां का मजाक बनाना व अध्योध्या मसले पर अनर्गल टिप्पणी करना पड़ा भारी
  •     आईपीसी की धारा 420 और आईटी एक्ट की धारा 66 के तरह लगे आरोप 
  •     राजद्रोह से संबंधित धारा 124 ए को भी जोड़ा

नई दिल्ली।   मुजफ्फरनगर के जाकिर अली ने अपने फेसबुक पोस्ट में गंगा को जीवित इकाई का दर्जा देने का मजाक उड़ाया और अयोध्या मसले पर अनर्गल टिप्पणी करना काफी भारी पड़ा और उसे इस दुष्कृत्य के लिए 42 दिन जेल में बिताने पड़े। 
इन टिप्पणियों को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने आपराधिक मानते हुए 18 वर्षीय जाकिर अली त्यागी को गिरफ्तार कर लिया। उसको 42 दिन मुजफ्फरनगर की जेल में गुजारने पड़े 
जाकिर को दो अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था और उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 (धोखाधड़ी) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम (कंप्यूटर संबंधित अपराध) की धारा 66 के तहत आरोप तय किए गए।
अनुसंधान के बाद में पुलिस ने अपने आरोप-पत्र में राजद्रोह से संबंधित धारा 124 ए भी जोड़ दी है। उसे भीम आर्मी डिफेंस कमेटी द्वारा दिल्ली लाया गया।