कश्मीर घाटी के दूरस्थ क्षेत्रों से आये विद्यार्थी करेंगे जयपुर भ्रमण

img

जयपुर
जम्मू कश्मीर के विभिन्न जिलों से आए 50 बच्चों के दल ने शुक्रवार को जिला कलक्टे्रट सभागार में सिविल एक्शन प्रोग्राम के तहत जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन से मुलाकात की। 
महाजन ने जम्मू कश्मीर से आए विद्यार्थियों को भारत दर्शन यात्रा की शुभकामनाऐं दी साथ ही कहा की शिक्षा एक ?सा माध्यम है जहां से आप अपने भविष्य को बदल सकते है। इसलिए खूब पढ़ाई कीजिए और जयपुर के ?तिहासिक धरोहरो पर भ्रमण कीजिए।
बी.एस.एफ द्वारा करवाया जा रहे भारत दर्शन मे 6जी क्लास से 8जी क्लास तक के बच्चे शामिल है, जिसमें 50 लड़कियां और 50 लड़के सम्मिलित है। ये बच्चे जयपुर के आमेर पैलेस, जन्तर मंतर हवामहल, सीटी पैलेस, जयगढ़, नाहरगढ़ किला का भ्रमण करने के पश्चात् दिल्ली, आगरा, अमृतसर, सहित अन्य जगहों पर भ्रमण करेंगे।
 बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (साउथ) हरिसिंह मीणा 69 बटालियन सीमा सुरक्षा बल के कमाडेंट अहसन शाहेदी, उप कमाडेंट रोज कुमार सहित जम्मू कश्मीर से आए सरकारी स्कूल के बच्चे सम्मिलित थे।

बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद टीम इंडिया को हुआ बड़ा फायदा, कोहली की सेना अबकी बार रचेगी इतिहास!

img

नई दिल्ली
ऑस्ट्रेलियाई टीम पर दक्षिण अफ्रीका दौरे पर हुए बॉल टेंपरिंग (गेंद से छेड़छाड़) विवाद का असर इस साल के अंत में शीर्ष रैंकिंग पर काबिज भारतीय टीम के खिलाफ होने वाली सीरीज पर भी पड़ेगा, क्योंकि स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरन बेनक्राफ्ट अब इस सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे। हालांकि, बेनक्राफ्ट की तुलना में स्मिथ और वार्नर कहीं बड़े खिलाड़ी हैं और उनकी कमी का फायदा हर विरोधी टीम उठाना चाहेगी। बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद दर्शकों को अब भारत के आगामी ऑस्ट्रेलियाई दौरे में स्मिथ और विराट कोहली के बीच बेहतर कप्तान और बल्लेबाज की दिलचस्प जंग देखने को नहीं मिल सकेगी। इस तरह से इस सीरीज का प्रभाव कुछ कम होगा। हालांकि, यह सीरीज भारत के लिहाज से अभी भी काफी बड़ी है, क्योंकि वह टेस्ट रैंकिंग की शीर्ष टीम है और यह माना जा रहा है कि वर्तमान पीढ़ी के लिए यह साबित करने का सर्वश्रेष्ठ की वह देश की अब तक की सर्वश्रेष्ठ टीम है। स्मिथ और वार्नर अगले साल अप्रैल तक ऑस्ट्रेलिया के लिए नहीं खेल सकेंगे, जबकि बेनक्राफ्ट का नौ महीने का प्रतिबंध इस साल के अंत में या अगली साल की शुरुआत में खत्म होगा। अगले 12 महीने ऑस्ट्रेलिया के लिए काफी व्यस्तता से भरे हुए हैं। आइसीसी के भविष्य दौरा कार्यक्रम के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया को भारत के खिलाफ न सिर्फ इस अहम सीरीज को खेलना है, बल्कि मेलबर्न में पारंपरिक बॉक्सिंग डे टेस्ट और नए साल की शुरुआत में सिडनी में भी खेलना है, जहां नए साल के मौके पर बड़ी तादाद में दर्शक पहुंचते हैं। स्मिथ और वार्नर के नहीं होने का सबसे बड़ा फायदा भारतीय टीम को मिल सकता है। इस साल नवंबर-दिसंबर में चार टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत के पास ऑस्ट्रेलिया में अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीतने का अच्छा होगा। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में पहली टेस्ट सीरीज 1947-48 में खेली थी और पिछले 71 वर्षो में भारत वहां कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीत सका है। भारत ने वहां 11 सीरीज खेली हैं, जिसमें आठ में उसे हार मिली, जबकि तीन ड्रॉ रहीं। भारत का पिछला ऑस्ट्रेलियाई दौरा दिसंबर 2014-15 में हुआ था। चार टेस्ट की यह सीरीज भारत ने 0-2 से गंवाई थी। तब बतौर बल्लेबाज खेल रहे स्मिथ ने चार मैचों में चार शतक के साथ 769 रन बनाए थे। वहीं, वार्नर ने चार मैचों में तीन शतक के साथ 427 रन बनाए थे। स्मिथ का भारत के खिलाफ रिकॉर्ड काफी शानदार है। उन्होंने भारत के खिलाफ 10 टेस्ट में 84.05 की औसत से सात शतक के साथ 1429 रन बनाए हैं। ऑस्ट्रेलिया को अगले 12 महीनों में 12 टेस्ट, 29 वनडे और सात टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने हैं। इस टीम को अब इंग्लैंड दौरा करना है, जहां पांच वनडे और जून में एक टी-20 मैच खेला जाएगा। ऐसे में तीनों प्रतिबंधित खिलाडिय़ों की कमी उसे खासी खलेगी। इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 मैच में वार्नर को कप्तानी करनी थी। तीनों खिलाडिय़ों पर लगा प्रतिबंध अगले साल 30 मई से इंग्लैंड एवं वेल्स में होने वाले विश्व कप से पहले खत्म हो जाएगा। इसके बाद इंग्लैंड में एशेज सीरीज खेली जाएगी।

फैमिली के लिए 19 को आ रही है नई अर्टिगा

img

नई दिल्ली

एमपीवी सेगमेंट में सुजुकी मोटर्स जल्द ही अपनी नई अर्टिगा का ग्लोबल लॉन्च इस महीने की 19 तारीख को करने जा रहा है। लेकिन भारत में इसे कब तक उतारा जायेगा इस बार में फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिली है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी नई अर्टिगा को अगस्त 2018 में लॉन्च कर सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुजुकी मोटर्स इस कार आगामी इडोनेशिया मोटर शो में 19 अप्रैल 2018 को पर्दा उठाएगी। खबर है कि इस कार को नए 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन के साथ लॉन्च किया जा सकता है। साथ ही इसमें कई अन्य बदलाव भी देखने को मिलेंगे। एमपीवी सेगमेंट में अर्टिगा काफी पॉपुलर सवारी है। मारुति के इस 7 सीटर अर्टिगा की बात करें तो इसे भी नई स्विफ्ट की तरह हल्के हर्टेक्ट प्लेटफॉर्म पर बनाया जाएगा। हालांकि अभी तक इसके पावर स्पेसिफिकेशन की जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन इसमें 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन दिया जा सकता है जो  ्य१४क्च 1.4 लीटर पेट्रोल इंजन को रिप्लेस करेगा। वहीं, भारत में इस कार में 1.5 लीटर डीजल इंजन भी दिया जा सकता है, जो फिएट के 1.3 लीटर डीजल इंजन को रिप्लेस करेगा। नई अर्टिगा का भारत में असली मुकाबला टोयोटा इनोवा, रेनो कैप्चर, रेनो लोजी, महिंद्रा जायलो, डैटसन गो प्लस, जैसे कारों से होगा।

 

मारुति सुजुकी की जिम्नी जल्द होगी लॉन्च

नई दिल्ली
भारतीय कार बाजार में मारुति सुजुकी की नई जिम्नी को जल्द लॉन्च होने की तैयारी में है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी इसे मई 2018 में इसे पेश किया जा सकता है। नई जिम्नी मौजूदा मारुति जिप्सी की जगह ले सकती है। जिम्नी के बारे में कई जानकारी मिल चुकी है। 100ड्ढद्धश्च की पावर और 170हृद्व का टॉर्क मिलता है। इसके अलावा इसमें 5 स्पीलड मैनुअल और 6 स्पीनड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक गियरबॉक्सत का ऑप्शयन शामिल हो सकता है। भारत में इस कार का प्रोडक्शन सुजुकी के गुजरात प्लांट में हो सकता है।  इसके कैबिन आम गाडिय़ों के मुकाबले बहुत ज्यादा लग्जरी टाइप नहीं मिलेगा।  यह एक फ्लैट इंटीरियर दिखाई पड़ता है। फीचर्स के तौर पर इसमें सुजुकी का स्मार्ट प्ले इंफोटेनमेंट सिस्टम, स्टीयरिंग माउंटेड कंट्रोल जैसे फीचर्स हैं। सुजुकी जिम्नी का मुकाबला 5 सीटर महिंद्रा बोलेरो से होगा। बोलेरो में द्व॥ड्ड2द्म इंजन लगा है। 1493ष्ष् वाला यह इंजन 70ड्ढद्धश्च और 195हृद्व का टार्क देता और वहीं इसकी माइलेज 16.5 द्मद्वश्चद्य है। जबकि मौजूदा बोलेरो की माइलेज 15.5 द्मद्वश्चद्य है। महिंद्रा बोलेरो पॉवरप्लस के क्चस्ढ्ढङ्क वेरिएंट की मुंबई में एक्स शो रूम कीमत 6.59 लाख रुपए से शुरु होती है। कार के टॉप वेरिएंट में डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, ड्राईवर इनफार्मेशन सिस्टम, वौइस मेस्सगिंग, फ्यूल सेविंग माइक्रो हाइब्रिड टेक्नोलॉजी दी गई है।

बीसीसीआई ने सरकार से भारत-पाक श्रृंखला पर नीति स्पष्ट करने को कहा

img

नई दिल्ली
भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने केंद्र सरकार से भारत-पाकिस्तान द्विपक्षीय श्रृंखला के संबंध में अपनी स्थिति औपचारिक तौर पर स्पष्ट करने का आग्रह किया है। इन दोनों पड़ोसी देशों के बीच राजनीतिक तनाव के कारण 2012 से कोई द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं खेली गयी। बीसीसीआई लगातार अपनी स्थिति स्पष्ट करता रहा है कि सरकार की तरफ से मंजूरी मिले बिना वह द्विपक्षीय श्रृंखला में नहीं खेल सकता है। पता चला है कि दुनिया का सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड आईसीसी विवाद निवारण मंच पर जाने से पहले सरकार से औपचारिक संदेश चाहता है। बीसीसीआई को आईसीसी विवाद निवारण मंच में पीसीबी के सात करोड़ डालर के मुआवजे के दावे के खिलाफ अपना पक्ष रखना है। पीसीबी ने 2014 में दोनों बोर्ड के बीच हुए समझौते का सम्मान नहीं करने के कारण यह दावा ठोका है। बीसीसीआई ने हाल में मंत्रालय को लिखा, अगर आप भारतीय क्रिकेट टीम के पाकिस्तान क्रिकेट टीम के साथ स्वदेश और विदेशी दौरों में खेलने के लिये भारत सरकार से पूर्व में मंजूरी लेने की आवश्यकता को लेकर भारत सरकार की नीति-स्थिति औपचारिक तौर पर स्पष्ट कर सकें तो बीसीसीआई आभारी होगा। इस ईमेल के बारे में पूछने पर बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, यह बीसीसीआई की तरफ से नियमित पत्र व्यवहार है। द्विपक्षीय श्रृंखला को लेकर सरकार से अनुमति लेना हमारा कर्तव्य है।  हम समझते हैं कि वर्तमान परिस्थितियों में द्विपक्षीय श्रृंखला बहुत मुश्किल है लेकिन अगर हमें सरकार से उत्तर मिल जाता है तो इससे हमें मदद मिलेगी। पीसीबी ने आईसीसी विवाद निवारण समिति में अपील करके बीसीसीआई पर भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) की प्रतिबद्धता का सम्मान नहीं करने का आरोप लगाया है। इसके अनुसार भारत को पाकिस्तान के खिलाफ संयुक्त अरब अमीरात जैसे तटस्थ स्थल पर भी दो श्रृंखलाएं खेलनी जरूरी हैं। आईसीसी ने एक विज्ञप्ति में कहा, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने आज पुष्टि की पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और भारतीय क्रिकेट बोर्ड के बीच मामले में माइकल बेलोफ क्यूसी विवाद पैनल की अगुवाई करेंगे। 
पैनल के दो अन्य सदस्य जान पॉलसन और डा–अनाबेल बेनेट एओ, एससी हैं। विश्व क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था ने इसके साथ ही स्पष्ट किया है कि विवाद पैनल के फैसले के खिलाफ अपील नहीं की जा सकती है। 

चीनी ताइपे को हराकर फाइनल में जगह बनाने उतरेगा कीनिया

img

मुंबई
भारत से मिली 3-0 से हार को भुलाकर कीनिया कल चीनी ताइपै को आखिरी लीग मैच में हराकर इंटर कांटिनेंटल कप फुटबाल के फाइनल में जगह बनाना चाहेगा। दोनों टीमें चार देशों के टूर्नामेंट के आखिरी लीग मैच में कल खेलेंगी। भारत पहले ही फाइनल में जगह बना चुका है। दूसरे स्थान के लिये न्यूजीलैंड और कीनिया दोनों दौड़ में हैं। कीनियाई टीम चीनी ताइपै पर बड़े अंतर से जीत दर्ज करके फाइनल में पहुंचना चाहेगी। वहीं न्यूजीलैंड अगर आज भारत से हार जाता है तो कीनिया को सिर्फ जीत की जरूरत होगी, जीत का अंतर मायने नहीं रखेगा। युवा खिलाडिय़ों के साथ उतरी कीनिया को हराना आसान नहीं होगा क्योंकि शारीरिक रूप से मजबूत उसके खिलाड़ी आक्रामक खेल दिखाते हैं। कीनिया के लिये फायदे की बात यह है कि उसने दोनों मैच बारिश में खेले हैं और उसे पता है कि मुंबई फुटबाल एरेना में हालात कैसे होंगे। दूसरी ओर चीनी ताइपै के पास खोने के लिये कुछ नहीं है तो वह बिना किसी दबाव के प्रतिष्ठा बचाने के लिये खेलेगा।