बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी ने मनाया चौथा दीक्षांत समारोह

img

नई दिल्ली
हीरो ग्रुप की नॉट-फॉर-प्रॉफिट यूनिवर्सिटी बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी (बीएमयू) ने चौथे दीक्षांत समारोह के दौरान कैंपस में भव्य आयोजन किया। इस दीक्षांत समारोह के दौरान भारत होटल्स लिमिटेड की चेयरपर्सन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. ज्योत्सना सूरी बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहीं, जबकि बॉर्डर मिशन, सिंगापुर के चेयरमैन श्री जॉर्ज गोह चिंग वा गेस्ट ऑफ ऑनर के रूप में उपस्थित रहे। श्री जॉर्ज को इस दौरान डॉक्टरेट की मानद उपाधि से नवाजा गया। बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी एवं स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड कॉमर्स से सफलतापूर्वक एमबीए, बीबीए, बी. कॉम (ऑनर्स) और बी. टेक करने वाले 438 छात्रों को डिग्री प्रदान की गई। इसके साथ ही 3 छात्रों को बेस्ट आउटगोइंग स्टूडेंट होने के नाते डॉ. बृजमोहन लाल मुंजाल पदक और 8 छात्रों को एकेडमिक एक्सीलेंस पदक से सम्मानित किया गया। ग्रेजुएट छात्रों की सफलतापूर्वक टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, ग्रांट थॉर्नटन, हीरो मोटोकॉर्प, केपीएमजी समेत अन्य कंपनियों में प्लेसमेंट हो चुकी है।
दीक्षांत समारोह की शुरुआत अकादमिक आयोजन के साथ हुई। इसके बाद वाइस चांसलर डॉ. (प्रोफेसर) मनोज कुमार अरोड़ा ने स्वागत भाषण दिया और वार्षिक रिपोर्ट पेश की। इसके बाद चांसलर व हीरो एंटरप्राइज के चेयरमैन श्री सुनील कांत मुंजाल ने संबोधित किया। दीक्षांत संबोधन मुख्य अतिथि डॉ. ज्योत्सना सूरी ने दिया। गेस्ट ऑफ ऑनर श्री जॉर्ज गोह चिंग वा ने भी उपस्थित लोगों को संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट श्री अक्षय मुंजाल ने किया। अपने संबोधन में बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी के चांसलर श्री सुनील कांत मुंजाल ने स्नातक पूरा करने पर छात्रों को बधाई दी। उन्होंने कार्यक्रम में शामिल होने और यूनिवर्सिटी व छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए डॉ. सूरी और श्री जॉर्ज का भी धन्यवाद किया। उन्होंने आगे कहा, बीएमयू में हमारा मानना है कि शिक्षा का अर्थ केवल डिग्री देना नहीं होता, इसलिए अपनी शुरुआत से ही हमारा फोकस रहा है कि यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन की शुरुआत के पहले दिन से ही छात्रों को चहुंमुखी प्रतिभावान, उद्योग जगत के लिए पूर्ण योग्य नेतृत्वकर्ता के रूप में तैयार किया जाए। हम आज चौथा दीक्षांत समारोह आयोजित कर रहे हैं और यह देखकर मुझे बहुत खुशी हो रही है कि यूनिवर्सिटी लगातार विकास कर रही है और भविष्य के ऐसे नेतृत्वकर्ता तैयार करने के रास्ते पर सही दिशा में बढ़ रही है। बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी ने भारत में अध्यापन, अध्ययन और शोध का इनोवेटिव वातावरण स्थापित किया है। कैंपस में स्थित स्टेट ऑफ द आर्ट प्रयोगशालाएं और कार्यशालाएं न केवल छात्रों को समाज से जुड़ी समस्याओं के आम समाधान खोजने में उनकी सहायता करती हैं, बल्कि देश और विदेश के उच्च स्तरीय शोधकर्ता भी यहां आते और प्रयोग करते हैं। सीमेंस, शेल, आईबीएम, इंटेल, फ्रॉनहोफर गेसेलशाफ्ट और हीरो मोटोकॉर्प के सहयोग से चलने वाले सेंटर ऑफ एक्सीलेंस व प्रयोगशालाएं विशेषरूप से उल्लेखनीय हैं। अकादमिक वर्ष 2019-2020 से बीएमयू ने चार नए अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रमों - बीएससी इकोनॉमिक्स (ऑनर्स), बिजनेस एनालिटिक्स में स्पेशलाइजेशन के साथ बीबीए, बीबीए-एलएलबी और बीए-एलएलबी की शुरुआत की है। यूनिवर्सिटी ने बी. टेक पाठ्यक्रमों में स्पेशलाइजेशन का विकल्प भी दिया है। इनमें ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग एवं रोबोटिक्स व ऑटोमेशन में स्पेशलाइजेशन के लिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग; कंस्ट्रक्शन मैनेजमेंट तथा स्मार्ट सिटी व सस्टेनेबल मैनेजमेंट के लिए सिविल इंजीनियरिंग; साइबर सिक्योरिटी और डाटा साइंस व आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में स्पेशलाइजेशन के लिए कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रम शामिल हैं।

whatsapp mail