Warning: mysqli_connect(): (42000/1226): User 'jaltedeep' has exceeded the 'max_user_connections' resource (current value: 30) in /home/dainikjalte1305/public_html/Admin/config.php on line 8

Warning: mysqli_query() expects parameter 1 to be mysqli, boolean given in /home/dainikjalte1305/public_html/state/header.php on line 109

Warning: mysqli_query() expects parameter 1 to be mysqli, boolean given in /home/dainikjalte1305/public_html/state/header.php on line 110

Warning: mysqli_fetch_array() expects parameter 1 to be mysqli_result, null given in /home/dainikjalte1305/public_html/state/header.php on line 111

अदाणी स्कूल के बच्चों ने मदर्स डे पर हाथ से लिखे पत्र पेश किए

img

अहमदाबाद
मदर्स डे पर, भारत भर के अदाणी फाउंडेशन द्वारा संचालित स्कूलों में हजारों बच्चों ने अपने प्यार का इजहार करने के लिए अभिनव खोज की। उन्होंने अपने हाथ से लिखे एक पत्र द्वारा यह प्रदर्शित किया कि वे अपनी माताओं के बारे में कैसा महसूस करते हैं। पांच स्कूलों के कुल 2217 छात्रों ने इस अभियान में हिस्सा लिया। अदाणी विद्या मंदिर अहमदाबाद, अदाणी पब्लिक स्कूल मुंद्रा (गुजरात), अदाणी विद्यालय कावई (राजस्थान), अदाणी विद्या मंदिर सरगुजा (छत्तीसगढ़) और अदाणी विद्यालय तिरोदा (महाराष्ट्र) ने मदर्स डे मनाने के लिए अभिनव तरीका अपनाया। बच्चे अपनी पसंद और आराम की भाषा चुनने के लिए स्वतंत्र थे क्योंकि माँ के लिए प्यार सार्वभौमिक है और यह भाषाओं के किसी भी अवरोध को पार कर जाता है। जानबूझकर, बच्चों को प्रभावित नहीं किया गया या उनकी भावनाओं को व्यक्त करने के तरीके के बारे में जानकारी नहीं दी गई। उद्देश्य था कि वे अपने अनूठे तरीकों से अपने वास्तविक प्रेम को व्यक्त करें। इस अभियान में कक्षा 3 से 8 तक के छात्रों ने भाग लिया। कुछ बच्चे अपनी माताओं की तस्वीरें लेकर आए थे, जिसे उन्होंने कोरे कागजों के शीर्ष पर चिपकाया था और फिर अपनी भावनाओं को लिखना शुरू कर दिया था। एक्सरसाइज के बाद, बच्चे मदर्स डे पर अपनी कृतज्ञता और प्रेम व्यक्त करने के लिए इसे अपनी माताओं को दिखाने के लिए अपने साथ घर ले गए। सुश्री शिलिन आर. अदाणी, ट्रस्टी, अदानी फाउंडेशन ने कहा ''माताएं सुपरवुमन होती हैं लेकिन प्रायः अपने प्यार और आभार को सरल शब्दों में व्यक्त करना मुश्किल होता है। इसलिए, इस तरह के अभिनव तरीके से मातृ दिवस का जश्न मनाना, हमारे छात्रों के लिए अपनी माताओं के प्रति आभार प्रकट करने का एक शानदार अवसर है। यह उन्हें हस्तलिखित अभिव्यक्ति का आकर्षण भी सिखाता है, जो आज के डिजिटल युग में एक खोई हुई कला है।

whatsapp mail