स्वर्ण काल की फिल्म मुगले आज़म (कलर) फिर से आर्यन जिफ 2019 में दिखाई जाएगी।

img

जयपुर
पुराने दौर का सिनेमा हॉल होगा, पुराने जमाने की मशिनें होगी, उसी जमाने के प्रोजेक्टर मैन होगा और होगी उस काल की एक भव्य फिल्म जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी। वही गड़गड़ाहट, जिसके हर डायलॉग से सिनेमा हॉल तालिया से गूंज उठता था। कुछ ऐसा ही फिर से होने जा रहा है। ये मौका है 11वें आर्यन जयपुर इन्टरनेशनल फिल्म फेस्टीवल-जिफ का, ये फेस्टीवल 18 से 22 जनवरी तक जयपुर के जैम और गोलाछा सिनेमा के साथ पाँच अन्य स्थानों पर आयोजित होने जा रहा है। उदघाटन शुक्रवार 18 जनवरी को शाम 5 बजे होगा। जगह होगी जयपुर का ऐतिहासिक सिनेमा हॉल जैम, ये सिनेमा सांगानेरी गेट के पास है जो जिफ के लिए फिर से शुरू किया जा रहा है। इसी हॉल में 20 जनवरी को के. आसिफ़ की शानदार जानदार फिल्म मुगले आजम (कलर) का दुपहर 3:30 बजे वेरी स्पेशल शो होगा। ये फिल्म उसी जमाने की रियल रील से से चलाई जाएगी। शायद ज़्यादातर लोगों ने उस जमाने की रील भी नहीं देखी होगी। एंट्री केवल आमंत्रित लोगों और पहले आओ पहले सीट पाओ के आधार पर रहेगी। डेलिगेटस रजिस्ट्रेशन जिफ की वेबसाईट पर भी ओपन है –www.jiffindia.org फिल्म शो के दौरान “सिनेमाँ तब और अब”विषय पर चर्चा होगी होगी। इस चर्चा में में जिफ के चेयरमैन राजीव अरोडा, जैम सिनेमा के मालिक और मशहूर फोटोग्राफर सुधीर कासलीवाल, जिफ के प्रवकता राजेन्द्र बोड़ा और फिल्म के डिस्ट्रीब्यूटर नन्दकिशोर झालनी रूबरू होंगे। फेस्टीवल में पाँच दिन तक 64 देशों की 232 फिल्में दिखाई जाएगी। इस दौरान वर्कशॉप, सेमीनार्स, चर्चा, इन्टरनेशनल को प्रोडक्सन मीट आदि का आयोजन भी होगा। फेस्टीवल की क्लोजिंग सेरेमनी 22 जनवरी को शाम 5 बजे गोलछा सिनेमा पर होगी। 

whatsapp mail