80 साल की हुईं सलमान ख़ान की दूसरी मां हेलन

img

मुंबई
अगर आप बॉलीवुड के सबसे चर्चित डांसर्स की कोई लिस्ट बनाये तो उस लिस्ट में हेलन का नाम ज़रूर होगा। आज हेलन का बर्थडे है। हेलन ऐन रिचर्डसन का जन्म 21 नवंबर 1938 को बर्मा (म्यांमार) के रंगून में हुआ था। हेलन का शुरूआती दौर काफी संघर्ष भरा रहा है। हेलन के पिता जॉर्ज डेस्मियर एक एंग्लोइंडियन थे जबकि मां बर्मा की ही थीं। उनके भाई का नाम रोजर और बहन का नाम जेनिफर था। सेकेंड वर्ल्ड वार के समय उनके पिता का निधन हो गया और उसके बाद हालात ऐसे बिगड़े की उन्हें अपना देश छोड़ना पड़ा। साल 1964 में एक मीडिया इंटरव्यू में हेलन ने बताया था कि- ‘‘हम सैकड़ों लोग समूह में चल रहे थे। न हमारे पास खाना था और न ही पैसे। हमारे बदन पर कपड़े तक नहीं थे। रास्ते में कहीं कोई कुछ खाने को दे देता तो हम खा लेते। लोगों के रहमो-करम से बचते-बचाते हम असम तक पहुंचे। असम आते-आते हमारे समूह में आधे लोग ही बचे रहे। रास्ते में कुछ बीमारी की वजह से मर गए तो कुछ बहुत पीछे छूट गए। मेरी मां तब प्रेग्नेंट थीं और रास्ते में ही उनका मिसकैरेज हो गया। उन्हें इलाज के लिए डिब्रूगढ़ (असम) में भर्ती किया गया। मेरी हालत ऐसी हो गयी थी कि मैं ज़िन्दा कंकाल की तरह नज़र आने लगी थी। भाई की भी हालत नाज़ुक थी। हम दो महीने अस्पताल में रहे और उसके बाद हम सब कलकत्ता आ गए। लेकिन, दुःख यह रहा कि मेरा भाई चिकन पॉक्स से उबर नहीं सका और उसकी मौत हो गयी। साल 1962 में फ़िल्म 'काबिल ख़ान' के दौरान हेलन की मुलाकात सलीम ख़ान से हुई थी। सलीम हेलन को देखते ही उन्हें दिल दे बैठे। लेकिन, वो पहले से ही शादीशुदा थे इसलिए उनकी पत्नी सलमा ने इस पर आपत्ति जताई। इसके बावजूद सलीम ने हेलन से शादी की। हालांकि, उसके बाद ये सभी बहुत ख़ुशी के साथ मिलकर रहे! साल 2009 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया। साल 1980 में उन्हें फ़िल्मफेयर से ‘लहू के दो रंग’ के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का तो 1999 में लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार भी मिला। उनकी संघर्ष और फिर उनकी कामयाबी दोनों की एक मिसाल है।

whatsapp mail