तनुश्री दत्ता प्रकरण: सिन्टा ने मानी गलती, लेकिन अब लाचार

img

मुंबई
फिल्म अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर उनके साथ अभद्रता करने का आरोप जब से दोबारा लगाया है तब से मानो यह विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा हैl अब मामले की गंभीरता को देखते हुए सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन (सिन्टा) भी हरकत में आई है l सिन्टा ने एक आधिकारिक बयान जारी कर कर घटना की कड़ी निंदा की और साथ ही उन्होंने उनकी गलती भी मानीl इसके अलावा सिन्टा ने स्पष्टीकरण भी दिया कि अब इस मामले में वह कुछ नहीं कर पाएंगेl इसके पीछे उन्होंने कारण दिया कि दरअसल संगठन के संविधान के अनुसार 3 वर्षों से पुराने मामले को वह दोबारा नहीं खोला जा सकता l सिन्टा ने कहा है कि वो इस पूरी घटना की वह कड़ी निंदा करते हैंl फिल्म इंडस्ट्री में किसी भी प्रकार की यौन प्रताड़ना की बात को बर्दाश्त नहीं किया जाएगाl वर्ष 2008 में तनुश्री दत्ता द्वारा लिखे गए पत्र पढ़ने के बाद हमें इस बात का पता चला कि सिन्टा की ज्वाइंट डिस्प्यूट सेटेलमेंट कमेटी और आईएफटीपीसी का 2008 की जुलाई में लिया गया निर्णय गलत था क्योंकि उसमें यौन शोषण से जुड़े मुख्य फैसले पर ध्यान ही नहीं दिया गया था l सिन्टा ने आगे यह भी लिखा है कि यौन दुराचार एक गंभीर अपराध है लेकिन यह उनके लिए दुर्भाग्य की बात है कि सिन्टा के संविधान के अनुसार 3 वर्ष से पूरे होने के बाद किसी भी दर्ज मामले को दोबारा नहीं खोला जाता जिसके चलते उन्होंने संबंधित अधिकारियों से तनुश्री दत्ता के वक्तव्य पर आधारित निष्पक्ष जांच करने की अपील की है l इस बीच नाना पाटेकर ने तनुश्री के आरोपों के खिलाफ लीगल नोटिस भेजा है. इस बात की पुष्टि नाना के वकील राजेन्द्र शिरोडकर ने की हैl  नाना के वकील ने बताया है कि मैंने तनुश्री दत्ता को जो लीगल नोटिस भेजा है, उनमें हमने उनके द्वारा लगाये गये सभी आरोपों को खारिज किया है और नाना पाटेकर की इमेज ख़राब करने के लिए माफ़ी मांगने को कहा है l उन्होंने यह भी कहा है कि इस बारे में अभी बहुत कुछ नहीं कहा जा सकता है, लेकिन वह ऐसा क्यों कर रही हैं l इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है. उनके वकील ने कहा है कि नाना जल्द ही मुंबई वापस आकर इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे l 

whatsapp mail