दक्षिणी धू्रव में पहला स्थायी हवाई अड्डा बनाएगा चीन

img

बीजिंग
चीन दक्षिणी धू्रव में अपना पहला स्थायी हवाई अड्डा बनाएगा। इससे संसाधन समृद्ध अंटार्कटिक महाद्वीप में शोध कर रहे चीनी वैज्ञानिकों को रसद की तेजी से आपूर्ति और हवाई सुरक्षा प्रणाली में मदद मिलेगी। चीन इसके साथ ही अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के क्लब में शामिल हो जाएगा जिनके अंटार्कटिक में पहले से ही एयरपोर्ट हैं। अंटार्कटिक पर चीन का 35वां अभियान दल रवाना हो गया। इस अभियान का मुख्य मकसद अंटार्कटिक पर हवाई अड्डा बनाना है। यह हवाई अड्डा चीन निर्मित झोंगशान स्टेशन से 28 किलोमीटर दूर बनाए जाने की संभावना है।  

whatsapp mail