सैन्य आदान-प्रदान को बढ़ावा देने पर भारत और चीन में बनी सहमति

img

बीजिंग
डोकलाम गतिरोध के एक साल बाद भारत और चीन के बीच पहली रक्षा और सुरक्षा वार्ता हुई। इसमें दोनों देशों में सैन्य आदान-प्रदान और वार्ता को बढ़ावा देने पर सहमति बनी। बता दें कि पिछले साल डोकलाम में दोनों देशों की सेनाएं 73 दिनों तक आमने-सामने थीं। इस गतिरोध के चलते पिछले साल भारत और चीन में यह सालाना वार्ता नहीं हुई थी। भारत और चीन के शीर्ष अधिकारियों के बीच नौवीं सालाना रक्षा और सुरक्षा वार्ता यहां गत मंगलवार को हुई। इस वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुआई रक्षा सचिव संजय मित्रा ने की जबकि चीनी पक्ष का नेतृत्व केंद्रीय सैन्य आयोग के ज्वाइंट स्टॉफ विभाग के उप प्रमुख ने किया। बीजिंग में स्थित भारतीय दूतावास ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि दोनों पक्ष रक्षा आदान-प्रदान और दोनों सेनाओं के बीच विविध स्तर की वार्ताओं को बढ़ावा देने पर सहमत हुए हैं।

whatsapp mail