जलवायु परिवर्तन के अर्थशास्त्र को समझाने वालों को नोबेल का एलान

img

स्टॉकहोम
जलवायु परिवर्तन से अर्थव्यवस्था पर पडऩे वाले प्रभाव को समझाने वाले अमेरिका के दो अर्थशास्त्रियों विलियम नोर्डहॉस और पॉल रोमर को इस साल के अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। इन दोनों को पर्यावरण और प्रौद्योगिकी मुद्दों से जुड़े आर्थिक सिद्धांत पर काम करने के लिए जाना जाता है। अर्थशास्त्र के नोबेल का एलान ऐसे समय किया गया जब जलवायु परिवर्तन के खतरे को लेकर नई बहस छिड़ गई है। रॉयल स्वीडिश अकादमी ऑफ साइंसेज ने सोमवार को पुरस्कार की घोषणा करते हुए कहा, पुरस्कार विजेताओं के काम से उन बुनियादी सवालों के जवाब मिलने में मदद मिली कि किस तरह दीर्घकालीन सतत विकास और मानव कल्याण को बढ़ावा दिया जाए। इस पुरस्कार के तहत मिलने वाली दस लाख डॉलर की धनराशि दोनों विजेताओं में साझा होगी। नोबेल जीतने पर हैरानी जाहिर करते हुए 62 वर्षीय रोमर ने कहा, मुझे सुबह जब फोन आया तो मैंने कोई जवाब नहीं दिया क्योंकि मुझे लगा कि यह झूठी बात होगी। मुझे पुरस्कार की कोई उम्मीद नहीं थी। मेरे खयाल से कई लोगों को यह लगता है कि पर्यावरण की रक्षा करना इतना महंगा और कठिन होगा कि वे इसे नजरअंदाज कर देना चाहते हैं। लेकिन हम यकीनन पर्यावरण की सुरक्षा करने के साथ सतत विकास कर सकते हैं।

whatsapp mail