मनोहर पर्रिकर एम्स से डिस्चार्ज हुए, केंद्रीय मंत्री ने कहा-अभी आराम करें

img

गोवा
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर रविवार को दिल्ली एम्स से डिस्चार्ज हो गए। इसके बाद उन्हें गोवा लाया गया। उनका पेन्क्रियाटिक संबंधी बीमारी का इलाज चल रहा था। सूत्रों ने बताया कि रविवार सुबह उन्हें तबीयत बिगडऩे पर आईसीयू में शिफ्ट किया गया था। हालांकि, कुछ देर बाद डॉक्टरों ने उन्हें डिस्चार्ज करने का फैसला किया। उधर, केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि पर्रिकर को अभी आराम करना चाहिए। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि पर्रिकर को विशेष विमान से गोवा ले जाया गया। यहां वे अपने पणजी स्थित निजी आवास में रहेंगे। पर्रिकर को 15 सितंबर को एम्स में भर्ती किया गया था। गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा कि पर्रिकर के निजी आवास पर इलाज के लिए संसाधन बढ़ाए गए हैं। यहां डॉक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखेगी। शुक्रवार को पर्रिकर ने गोवा भाजपा के सदस्यों, मंत्रियों और गठबंधन के साथियों की बैठक बुलाई थी। पर्रिकर ने गोवा सरकार के सुचारू रूप से चलने को लेकर चर्चा की। भाजपा के सदस्यों ने गोवा में किसी तरह के नेतृत्व परिवर्तन से इनकार कर दिया। श्रीपद नाइक ने कहा कि पर्रिकर ही हालत में अब सुधार हो रहा है। लेकिन, उन्हें गोवा जाने के बाद भी आराम करना चाहिए। ये ठीक है कि गोवा में भी पर्रिकर का इलाज होता रहेगा, लेकिन उन्हें आराम की जरूरत है। एम्स आने पर उनकी जो हालत थी, उसमें अब सुधार है। हालांकि, उन्हें कुछ दिन और एम्स में ठहरना चाहिए। गोवा के सवाल पर नाइक ने कहा कि ये सरकार पांच साल पूरे करेगी। पर्रिकर की बीमारी को लेकर राज्यपाल से मिले थे कांग्रेस विधायक पर्रिकर की बीमारी को लेकर विपक्षी कांग्रेस ने गोवा सरकार की स्थिरता पर सवाल उठाया था। कांग्रेस के 15 विधायकों ने 19 सितंबर को राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात कर फ्लोर टेस्ट की मांग की थी। इसी दिन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के नेताओं से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा था कि पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगे और कैबिनेट में जल्द बदलाव हो सकता है। 

whatsapp mail