गुजरात-महाराष्ट्र की बोट्स के बीच गैंगवार

img

बोट डूबाने की कोशिश, पाइप-बेट से हमला कर खलासियों को किया घायल

राजकोट
ऊना के नवाबंदर की बोट के टंडेल और खलासी पर पत्थरबाजी हुई। हमलावरों ने पाइप और बेट से हमला किया। बोट को डूबाने की भी कोशिश की गई। इस घटना से मछुआरों के परिवारों में रोष है। ऊना के नवाबंदर से मांडणभाई पांचाभाई मजीठिया अपनी 'मेघदूत' नामक बोट लेकर रवींद्र भीमजी और उनके खलासी 70 कि.मी. यानी 35 नोटिकल माइल अरब सागर में जाल बांधकर मछली मार रहे थे। उसी समय महाराष्ट्र की करीब 20-25 बोट वहां पहुंच गई। बोट में सवार लोगों ने गुजरात की बोट के जाल तोड़ दिए और खलासियों को पत्थर फेंककर मारने लगे।

9 खलासी घायल 
इस हमले से टंडेल समेत 9 खलासी घायल हो गए। हमलवरों ने बोट में तोड़-फोड़ की। बोट को डूबो देने की कोशिश भी की। इससे खलासी वहां से भाग गए। इस घटना में बोट, जाल, तथा मछली मारने के संसाधनों समेत करीब 2 लाख का नुकसान हुआ। बोट के मालिक सोमवार भाई मांडण भाई ने इसकी शिकायत पुलिस से की है।

समुद्री क्षेत्र में गुंडागिरी
यह पहली घटना नहीं है, इस समुद्री इलाके में बोट पर पहले भी हमले होते रहे हैं। हर बार सीमा के सवाल पर मामला सुलझ नहीं पाता। यह घटना 30 नोटिकल माइल दूर की है। वह इलाका राष्ट्रीय समुद्री सीमा पर आता है। इसलिए इसकी शिकायत पोरबंदर की नवीबंदर मरीन पुलिस में की जाए।

whatsapp mail