मध्यप्रदेश : भाजपा और कांग्रेस की लड़ाई हुई मुश्किल, ये दल भी चुनावी मैदान में ठोक रहे ताल

img

भोपाल 
मध्यप्रदेश में इस बार न सिर्फ भाजपा बल्कि कांग्रेस की भी लड़ाई मुश्किल नजर आ रही है। खास तौर पर कांग्रेस ने शुरुआत में जैसा सोचा था वैसा होता नजर नहीं आ रहा है। जब कांग्रेस ने कमलनाथ को राज्य की कमान सौंपी थी तब उन्होंने सोचा था कि भाजपा से निपटने के लिए एक महागठबंधन बनाया जाएगा। लेकिन हालात ने करवट ली और कमलनाथ का ये सपना धरा का धरा रह गया।  बताया जाता है कि कमलनाथ चाहते थे कि बसपा को 30 सीटें दी जाएं और कांग्रेस 200 सीटों पर चुनाव लड़े। लेकिन बसपा सुप्रीमो मायावती 60 सीटों पर अड़ी हुई थीं जिससे गठबंधन का बात सिरे नहीं चढ़ सकी। आखिर में ये हुआ कि बसपा ने अकेले ही 230 सीट पर लडऩे का एलान कर कांग्रेस को करारा झटका दे दिया। मध्यप्रदेश में इस बार भाजपा और कांग्रेस की लड़ाई कतई आसान नहीं है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि कई दल चुनावी मैदान में उतर रहे हैं। इन दोनों दलों के अलावा बसपा, सपाक्स, आप भी मैदान में ताल ठोक रही है। इससे पहले यहां द्विपक्षीय मुकाबला ही होता रहा है, लेकिन पहली बार कई दल चुनौती देते नजर आ रहे हैं। 
 

whatsapp mail