मध्यप्रदेश में 75 प्रति. मतदान : कांग्रेस ने कहा, बदलाव को उमड़ी जनता, भाजपा बोली मोदी के विकास पर लगी मुहर

img

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में अच्छे मतदान की खबर है। चुनाव आयोग के मुताबिक शाम पांच बजे तक 75 फीसदी तक मतदान हुआ था जो शेष खराब ईवीएम वाले बूथों की गणना आने के बाद बढ़ सकता है। पिछले विधानसभा चुनाव में 72.07 फीसदी मतदान हुआ था। मध्यप्रदेश की लगभग 87 फीसदी ग्रामीण क्षेत्र वाले राज्य के लिहाज से इसे काफी अच्छा कहा जा सकता है। तेज मतदान को कांग्रेस और भाजपा दोनों ने ही अपने पक्ष में बताने की कोशिश की है। कांग्रेस ने कहा कि यह मध्यप्रदेश में किसानों-युवाओं का सरकार के लिए गुस्सा था जो मतदान के रूप में सामने आया। वहीं भाजपा ने कहा कि यह पीएम नरेंद्र मोदी की योजनाओं के प्रति लोगों की उम्मीद थी जो और बेहतरी की उम्मीद में उन्हें मतदान केंद्रों तक खींच लाई। कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने मध्यप्रदेश के तेज मतदान को कांग्रेस के पक्ष में जाने की बात बताते हुए कहा कि पूरे देश की तरह मध्यप्रदेश के किसी एक भी वर्ग में भाजपा और नरेन्द्र मोदी से उम्मीद नहीं बची है। मंदसौर में किसानों के ऊपर हुई गोलीबारी और छह लोगों की मौत से अन्नदाता नाराज था। 
वहीं युवाओं की एक पूरी पीढ़ी व्यापम में व्याप्त भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई और उन्हें नौकरी नहीं मिली। पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों से किसानों के साथ-साथ घरेलू औरतों का भी बजट बिगड़ गया। उन्होंने कहा कि लोगों के इसी गुस्से को कम करने के लिए भाजपा ने राममंदिर का राग खूब अलापा, लेकिन उसकी एक भी कोशिश काम नहीं आई। 
 

whatsapp mail