मुख्यमंत्री जगन मोहन ने चंद्रबाबू के परिवार की सुरक्षा हटाई

img

अमरावती
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने मंगलवार को तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू के परिवार के सदस्यों की सुरक्षा हटाने के निर्देश दिए। पूर्व मुख्यमंत्री नायडू के बेटे और पूर्व मंत्री नारा लोकेश को पहले जेड प्लस सिक्युरिटी मिली हुई थी। लेकिन अब दोनों के साथ 2+2 गनमैन ही रहेंगे। नायडू परिवार के बाकी सदस्यों की सुरक्षा पूरी तरह से हटा ली गई है। पिछले दिनों आम नागरिकों की तरह एयरपोर्ट पर चंद्रबाबू की तलाशी ली गई थी। इस पर तेदेपा ने कहा था कि एक पूर्व मुख्यमंत्री के साथ ऐसा बर्ताव ठीक नहीं है। सोमवार को जगन सरकार ने चंद्रबाबू के कार्यकाल में बनी शासकीय इमारत 'प्रजा वेदिका' को गिराने का आदेश दिया था। मुख्यमंत्री ने कहा था कि इमारत नियमों के खिलाफ है और इसे बनाने में भ्रष्टाचार हुआ था। यह इस इमारत में होने वाली आखिरी मीटिंग है। इसी हॉल से निर्देश दे रहा हूं। मंगलवार को मीटिंग खत्म होने के बाद इमारत को गिरा दिया जाएगा। एक मजबूत संदेश देने के लिए उदाहरण के साथ चलना जरूरी है। यहीं से शुरुआत करते हैं। इमारत का निर्माण आंध्र प्रदेश की केपिटल रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी ने किया था। विपक्ष के नेता और तेलुगु देशम पार्टी प्रमुख नायडू का निवास भी इसी के पास है। नायडू ने जून महीने की शुरुआत में रेड्डी से निवेदन किया था कि इस इमारत को विपक्ष के नेता के निवास के तौर पर घोषित कर दिया जाए। उनके कार्यकाल में ज्यादातर सरकारी बैठकें यहीं पर होती थीं। 

whatsapp mail