2जी स्पेक्ट्रम केस : आरोपियों ने अपील पर जवाब देने के लिए कोर्ट से मांगी और मोहलत

img

नई दिल्ली
बहुचर्चित 2जी स्पेक्ट्रम मामले में बरी किए जाने के खिलाफ सीबीआइ की अपील पर जवाब दाखिल करने के लिए पूर्व टेलीकॉम मंत्री ए राजा और डीएमके नेता कनिमोई ने दिल्ली उच्च न्यायालय से और समय की मांग की है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने जवाब दाखिल न करने को लेकर निराशा व्यक्त की है। अब इस केस की अगली सुनवाई 7 फरवरी से फॉस्ट ट्रैक आधार पर होगी। दरअसल, सीबीआइ ने 2जी केस में पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा तथा द्रमुक सांसद कनिमोझी समेत अन्य आरोपियों को बरी किए जाने को चुनौती देते हुए मामले को भारी नुकसान तथा देश के लिए शर्म की बात बताया था। दिल्ली हाई कोर्ट में एडिशनल सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने जस्टिस एसपी गर्ग की पीठ को बताया कि 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में सरकारी खजाने को बड़ा नुकसान हुआ। यह केस भारी नुकसान और शर्म का है। उन्होंने आरोपियों के जवाब दाखिल करने के लिए और समय मांगे जाने को 'देर करने की चाल' करार देते हुए विरोध किया था। 

whatsapp mail