आचार्य लोकेश ने राष्ट्रीय सैनिक संस्था के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित किया

img

  • राष्ट्र सेवा और राष्ट्र भक्ति हर नागरिक का प्रथम कर्तव्य: आचार्य लोकेश
  • स्कूलों में प्रारम्भिक सैनिक प्रशिक्षण अनिवार्य होना चाहिए : राष्ट्रीय सैनिक संस्था

दिल्ली
अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि ने हिंदी भवन, आई टी ओ पर आयोजित राष्ट्रीय सैनिक संस्था के 14 वे राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित किया। श्री गुरु पावन सिन्हा जी के अध्यक्षता मे आयोजित कार्यक्रम में वीर चक्र प्राप्त कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी के प्रस्ताव पर लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल बी एन शाही, लेफ्टिनेंट जनरल डी आर सोनी, मेजर जनरल जी.डी. बक्शी, मेजर जनरल रंजित सिंह, मेजर जनरल एस पी सिन्हा, एयर वाईस मार्शल अजीत त्यागी एवं अनन्य फौजी अफसरों, सिपाहियों और देश भक्त नागरिकों की उपस्थिति में सर्वसमिति से कर्तव्य निष्ठा, चरित्र निर्माण, राष्ट्रीय एकीकरण, अनुशासन और इमानदारी को विकसित करने के लिए, सभी सरकारी एवं गैर सरकारी शिक्षा संस्थानों में हाई स्कूल स्तर पर प्रारम्भिक सैनिक प्रशिक्षण को अनिवार्य करने पर सहमति जताई एवं हस्ताक्षर किये। अधिवेशन में जनसंख्या नियंतरण, सभी नागरिकों को सैनिक शिक्षा और अभिवादन के समय जय हिन्द का उद्घोष यह तीन प्रस्ताव पारित हुये। आचार्य लोकेश ने अधिवेशन मे कहा भारतीय सेना को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है, राष्ट्र की सुरक्षा और निर्माण मे जितना योगदान भारतीय सेना का है उसकी जितनी सराहना की जाए वो कम है। हम सभी के पास अपने सैनिकों और भारतीय सेना के लिए प्यार, सम्मान और प्रशंसा है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि भारतीय सेना का एक लंबा और शानदार इतिहास रहा है। भारतीय सेना के साथ भारत का हर नागरिक खड़ा है। राष्ट्र सेवा और राष्ट्र भक्ति भारत के हर नागरिक का प्रथम कर्तव्य होना चाहिए। सुदर्शन टेलीविजन चेनल के संस्थापक सुरेश चौहान ने जनसँख्या नियंत्रण पर कानून बनाने की मांग की। उन्होंने कहा की यदि यह कानून अविलम्भ नही बनता है तो राष्ट्रीय एकीकरण असम्भव हो जाएगा। उन्होंने कहा जब फौज में दूसरी शादी और तीसरा बच्चा मान्य नही है तो फिर सिविल नागरिको के लिए क्यों मान्य है। सैनिक और नागरिक दोनों के सर्वोच कमाण्डर भारत के राष्ट्रपति है तो फिर बांया हाथ दांये हाथ का साथ क्यों नही करता। गुजरात के प्रदेश अध्यक्ष एयर कमोडोर सुरेन्द्र सिंह, मध्य प्रदेश के कर्नल महेन्द्र कुमार, कर्नल आर सी वर्मा, मेजर जनरल दीपक कुमार, कर्नल संत पाल राघव, कर्नल के.के एस माकिन, कर्नल किशोर उप्पल, लेफ्टिनेंट कर्नल ओम वीर सिंह, कर्नल सतीश शुक्ला सहित सभी प्रदेश अध्यक्षों ने जनसँख्या नियंत्रण कानून बनाने के प्रस्ताव को सर्वसमति और करतल ध्वनी से पास किया। यह भी आवाज़ उठाई गयी  की सार्वजानिक स्थानों पर आपसी अभिवादन में नमस्ते, गुड मोर्निंग, सत श्री अकाल या आदाब अजऱ् के बजाय जय हिन्द बोलना और बुलवाना अनिवार्य हो।

whatsapp mail