दशहरे के बाद दिल्ली में वायु प्रदूषण पहुंचा खतरनाक स्तर तक, कुछ दिनों तक नहीं मिलेगी राहत

img

नई दिल्ली
दशहरा के बाद दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण के स्तर में अचानक से उछाल आया है। यह बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि रावण दहन के कारण दिल्ली में प्रदूषण बढ़ा है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के दो प्रदूषण मॉनिटरिंग स्टेशनों में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) में 400 से भी ज्यादा दर्ज किया गया, जबकि 30 पर 310 से ज्यादा था। सबसे ज्यादा प्रदूषित क्षेत्रों में मथुरा रोड में 416 और द्वारका सेक्टर-8 में 406 एक्यूआइ दर्ज किया गया।

पूरे दिन छाया रहा कुहरा
बता दें कि शनिवार को दिल्ली में दिन भर कोहरा छाया रहा। सुबह छह से नौ के बीच और दोपहर तीन बजे के बाद वायु प्रदूषण के कारण वातावरण में धुंध छाया रहा।

रावण दहन का है असर
दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर बढऩे का कारण रावण दहन भी है। क्योंकि इसी के बाद दिल्ली का एक्यूआइ शुक्रवार को बढ़ कर 276 हो गया और शनिवार को 326 तक पहुंच गया।

कुछ दिनों तक कुहरा बना रहेगा खतरनाक स्तर पर
स्काइमेट के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने जानकारी दी कि अभी कुछ दिन तक दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर बना रहेगा। इसकी वजह यह है कि हवा नहीं चल रही है। इसके साथ ही तापमान में भी गिरावट आएगी। हालांकि उत्तर-पश्चिम दिशा से हवा नहीं चलने के कारण पराली के प्रदूषण का असर अभी दिल्ली में भयावह स्तर पर नहीं पहुंचा है और आने वाले चार दिनों तक इसके चलने की उम्मीद कम ही है। हां, दक्षिण-पश्चिम दिशा से भी हवाएं चल सकती हैं।

whatsapp mail