अयोध्या मामला: आज सुप्रीम कोर्ट मस्जिद पर सुना सकता है बड़ा फैसला

img

नई दिल्ली
अयोध्या के विवादित राम जम्मभूमि और बाबरी मस्जिद मामले के 27 सितंबर एक ऐतिहासिक तारीख हो सकती है। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट यह फैसला सुना सकती है कि मस्जिद में नमाज पढऩा इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं। हालांकि अयोध्या में विवादित जमीन पर किसका हक है इसपर फैसला आना अभी बाकी है। सुप्रीम कोर्ट की वरीयता सूची के मुताबिक 27 सितंबर को फैसला सूचीबद्ध है। नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि मामले में फैसला देने से पहले शीर्ष अदालत को ये तय होगा कि कि मस्जिद में नमाज पढऩा इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं। इसके बाद ही टाइटल सूट पर विचार होगा। मुस्लिम पक्षकारों की ओर से दायर याचिका में कहा गया कि 1994 के इस्माइल फारूकी मामले में पांच जजों के पीठ ने कहा था कि मस्जिद में नमाज पढऩा इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है। इस फैसले को चुनौती देते हुए दोबरा परीक्षण की जरूरत बताई गई। केस की सुनवाई के लिए मामले को संविधान बेंच में भेज जाने की मांग की गई। इसपर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।

whatsapp mail