सीबीआई रिश्वत मामला : सतीश सना का लाइ डिटेक्टर टेस्ट करा सकता है सीबीआई

img

दिल्ली
देश की बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के दो शीर्ष अधिकारियों के बीच की लड़ाई के सार्वजनिक होने से बड़े से बड़े लोगों को पसीना छुटने लगता है। लेकिन इस समय विभाग में नंबर एक डायरेक्टर आलोक वर्मा और नंबर दो राकेश अस्थाना का झगड़ा जिस तरह से सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है। उसको देखते हुए ऐसा लगता है कि यह मामला इतने जल्द खत्म होने वाला नहीं है। वहीं इस बीच इस मामले में सीबीआई का कहना है कि राकेश अस्थाना को रिश्वत देने वाले दुबई के बिजनेसमैन सतीश सना का वह लाइ डिटेक्टर टेस्ट करा सकती है। सीबीआई ने सतीश सना को इस पूरे मामले में एक समन जारी भी जारी किया है। बता दें कि सीबीआई के इस विभाग में रिश्वतखोरी को लेकर जो पूरा बवाल मचा हुआ है। इसके पीछे बिजनेसमैन सतीश सना है। सना ने ही सीबीआई के दो नंबर के अधिकारी राकेश अस्थाना पर आरोप लगते पूछताछ में बताया कि मीट कारोबारी मोइन कुरैशी के केस के मामले में उसके खिलाफ चल रही जांच को असफल करने के बदले में उससे 3 करोड़ रुपए की रिश्वत ली थी। सीबीआई के वर्तमान स्पेशल निदेशक राकेश अस्थाना समेत चार लोगों के खिलाफ खुद सीबीआई ने घुस लेने को लेकर मामला दर्ज दिया है। इस घूसखोरी में मामले में सीबीआई ने अपने ही विभाग के डीएसपी देवेंद्र कुमार के घर और आफिस पर पिछले हफ्ते छापा मारने के बाद गिरफ्तार किया था। जो इस समय वे सीबीआई के रिमांड पर है। सीबीआई की तरह से इस मामले में जो एफआईआर दर्ज की गई है। उसमें सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना जो सीबीआई के नंबर 2 के अधिकारी हैं। इन पर उत्त प्रदेश के मीट कारोबारी मोइन कुरैशी के मामले में सतीश साना नाम के एक शख्स से 3 करोड रुपए घुस लेने का आरोप लगाया है।  

whatsapp mail