कांग्रेस ने बदली रणनीति, अब गठबंधन के साथ लड़ेगी चुनाव

img

नई दिल्ली
राजस्थान की 15वीं विधानसभा में सत्ता पक्ष की दावेदारी मजबूत करने इरादे से कांग्रेस पार्टी अब प्रदेश में अकेले नहीं बल्कि गठबंधन के साथ चुनाव लड़ेगी। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बुधवार को कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक में पार्टी प्रमुख राहुल गांधी ने इस संबंध में निर्देश दिए हैं। राहुल ने गठबंधन के साथ चुनाव में जाने की हिदायत दी है। इसी के साथ चुनावी रण में कांग्रेस अब एनसीपी और शरद यादव के लोकतांत्रिक जनता दल के गठबंधन साथ राजस्थान की जंग लड़ेगी। इससे पूर्व राजस्थान कांग्रेस के नेताओं ने दलील दी थी कि यहां पर जनता में कांग्रेस को लेकर अति उत्साह है और इस माहौल को देखते हुए पार्टी को किसी गठबंधन की जरूरत नहीं है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट भी राज्य में अकेले चुनाव लडऩे पर जोर दे रहे थे। लेकिन सवाल विधानसभा के बाद लोकसभा चुनाव का भी था लिहाजा राहुल गांधी ने गठबंधन का फैसला लिया। राहुल के निर्देश के बाद सचिन पायलट ने शरद यादव से मुलाकात भी की है। करीब 25 से 30 मिनट की इस मुलाकात में दोनों के बीच दक्षिण राजस्थान की कुछ सीटों को लेकर चर्चा हुई है। बदलते समीकरण में अब कांग्रेस अब एनसीपी, लोकतांत्रिक जनता दल को साथ लेकर बीजेपी को चुनौती देगी। एनसीपी प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह चंपावत बाली विधानसभा से दावेदारी कर रहे हैं। हालांकि शरद यादव के समर्थक आदिवासी बहुल क्षेत्र में 4 से 5 सीटों पर अपनी दावेदारी जता रहे हैं। हाल ही शरद यादव बांसवाड़ा में एक सम्मेलन भी कर चुके हैं।

whatsapp mail